+

मौत से 6 माह पहले नहीं कर पाते लोग ये काम, आप भी जानें

शिव पुराण से लेकर गरुण पुराण तक इस बात को स्पष्टतः बताया गया है कि जो व्यक्ति यहां पैदा हुआ है। उसको मृत्यु को ग्रहण करना हो होगा। यह धरती असल में मृत्यु लोक है जहां अंत में सभी को अपना शरीर छोड़ना ही होता है। यहां प्रत्येक व्यक्ति का एक निश्चित समय होता है और समय पूरा होने के बाद में उसको जाना होता है। कुछ लोगों की अकाल मृत्यु हो जाती है लेकिन बता दें की अकाल मृत्यु एक प्रकार का ईश्वरीय दंड होता है। जिसमें व्यक्ति के शरीर को छीन लिया जाता है। इस स्थिति में व्यक्ति की आत्मा को परलोक में जानें की आज्ञा नहीं दी जाती है। ऐसे व्यक्ति की आत्मा उस समय तक भटकती रहती है जब तक मृत व्यक्ति की मौत का असल समय नहीं आ जाता। लेकिन जिन लोगों की मौत प्राकृतिक तौर पर होती है उनको 6 माह पहले कुछ संकेत मिलने लगते हैं। आज हम आपको यहां कुछ ऐसे ही संकेतों के बारे में बता रहें हैं। आइये जानते हैं मृत्यु से 6 माह पहले मौत का संकेत देने वाले इन संकेतों के बारे में। 

प्रतीकात्मक

1 - नाक का अगला हिस्सा सामान्यतः सभी देख सकते हैं लेकिन यदि कोई व्यक्ति अपनी नाक के हिस्से को नहीं देख पा रहा है तो इसका मतलब है कि मौत उसके धीरे धीरे करीब आ रही है। मौत से यह पहले यह संकेत मिलने लगता है अतः आप भी इसको ध्यान में रखें। 

 

2 - परछाई व्यक्ति के शरीर के साथ होती ही है लेकिन जिन लोगों की मृत्यु करीब होती है। उनको खुद कि परछाई नहीं दिखाई पड़ती है। खुद की परछाई का न दिखाई पड़ना भी मृत्यु के करीब आने का संकेत माना जाता है। 

 

3 - सभी कुछ सही होते हुए भी यदि किसी को शीशे में खुद का चेहरा धुंधला दिखाई पड़ता है या खुद का चेहरा पहचान में नहीं आ पाता तो इसको मृत्यु के करीब होने का संकेत माना जाता है। 

 

4 - शिव पुराण में यह बताया गया है कि जिस व्यक्ति की मौत करीब होती है। उन लोगों की जीभ सही से काम करना बंद कर देती हैं। ऐसे लोगों को बोलने में समस्या आने लगती है या उनको भोजन का सही स्वाद नहीं मिल पाता। 

 

5 - जीभ के अलावा मुंह, नाक तथा आंख भी सही से काम नहीं कर पाते हैं। यदि शरीर की ये सभी इंद्रिया एक साथ काम करना बंद कर दें तो यह मानना चाहिए की मौत काफी ज्यादा करीब है।