+

अगर लिफ्ट में फ़स जायें, तो क्या करना चाहिए?

आज के समय में दिल्ली, मुंबई जैसे शहरों में स्थान बचाने के लिए 20 से 50 मंजिला बिल्डिंग बनाई जा रही हैं। इस प्रकार की बिल्डिंग में रहने वाले लोगों के लिए लिफ्ट का उपयोग करना अनिवार्य हो ही जाता है। यदि आप भी लिफ्ट का उपयोग करते हैं तो उसकी कार्यप्रणाली को समझना बहुत जरुरी है। कई बार लिफ्ट के गिरने, खराब होने या अचानक बंद होने की ख़बरें मिलती रहती हैं। इस प्रकार का हादसा किसी के साथ कभी भी हो सकता है तो आइये जानते हैं कि हम कैसे बच सकते हैं लिफ्ट के कारण होने वाले इन हादसों से। 

1 - कई बार ऐसा होता है कि लिफ्ट बीच रास्ते में ही बंद हो जाता है। ऐसा होने पर हम बहुत बेचैन हो जाते हैं और लिफ्ट में लगे हेल्प के बटन को दबाने लगते हैं। कई बार ऐसा करने पर कोई फायदा नहीं भी होता है। इस समय हम लोगों को अपने फोन की लाइट ऑन कर लिफ्ट में लगे अलार्म के बटन को दबाना चाहिए। ऐसा करने पर आपको गॉर्ड से तुरंत मदद मिलेगी। 

2 - कुछ लोग लिफ्ट के अचानक बंद होने पर उसको अंदर से खोलने की कोशिश करते हैं। जिसका कोई परिणाम नहीं निकलता है। लिफ्ट में एक पॉवर बटन भी लगा होता है। आप जब इस बटन को दबाते हैं तो कुछ समय बाद लिफ्ट फिर से शुरू हो जाती है। इस बटन को दबाने के बाद में आपको कुछ समय लिफ्ट के अंदर धैर्य से इंतज़ार करना चाहिए। इस बात को भी ध्यान में रखना चाहिए कि लिफ्ट के अंदर कभी सिगरेट का यूज नहीं करना चाहिए। इसके धुएं से शॉर्ट सर्किट हो जाता है तथा यह आपके साथ मौजूद साथियों के लिए भी ख़तरा बन सकता है। 

3 - प्रत्येक लिफ्ट की अपनी क्षमता होती है। कभी भी लिफ्ट कि क्षमता से ज्यादा लोगों को लिफ्ट में प्रवेश नहीं करना चाहिए। इसके अलावा लिफ्ट के दरवाज़े बंद होते समय कभी हाथ डालकर नहीं रोकना चाहिए। ऐसा करना आपके लिए हानिकारक हो सकता है। इसके अलावा लिफ्ट चलते समय उसमें कूदफांद नहीं करनी चाहिए। यदि आप बच्चों के साथ लिफ्ट में हैं तो बच्चों का विशेष ख्याल रखना चाहिए।