+

अब नहीं देख सकेंगे फ्री-टू एयर चैनल

 

गांवों और दूर—दराज के कस्बाई इलाके रहने वाले उन लोगों का अब फ्री—टू एयर चैनल देखने के पैसे चुकाने पड़ेंगे, जो दूरदर्शन के डीटीएच पर टेलीविजन देखते रहे हैं। ऐसा फ्री—टू एयर चैनल के फीस लगाए जाने के कारण होगा। यानी कि 29 दिसंबर से आपका टीवी देखना और महंगा हो जाएगा, तो जो अबतक मुफ्त के चैनल देखते थे उन्हें कुछ शुल्क चुकाने पड़ेंगे।

दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने केबल चैनलों के शुल्क में काफी बढ़ोत्तरी कर दी है। नए नियमों के मुताबिक अब फ्री-टू एयर चैनलों को देखने के लिए भी दर्शकों को पैसा खर्च करना पड़ेगा। ये नए नियम डीटीएच, केबल और ब्रॉडकास्टर्स पर लागू होंगे और इनके उल्लंघन करने पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

इस तरह से बने नियमों के मुताबिक दर्शकों को उनके द्वारा चैनल देखने पर अलग—अलग शुल्क लगेगा। डीटीएच और केबल ऑपरेटर्स को प्रत्येक चैनल के लिए तय एक एमआरपी की जानकारी अपने इस्तेमाल करने वालों को देनी होगी।  

इस तरह के बदलाव का बोझ गरीब और गांव देहात में रहने वाले दर्शकों पर पड़ेगा। वे अभी दूरदर्शन के डीटीएच पर सभी चैनल मुफ्त देखते हैं। इसी तरह से निजी कंपनियों के डीटीएच पर फ्री-टू एयर चैनल आधी कीमत में उपलब्ध है।