+

सोने के गहनों के लिए जरूरी हो सकती है हॉलमार्किंग

क्या आपको पता है कि आपने जो सोने के गहनें पहने हैं, वे कितने खरे हैं? यानी कितने कैरेट का है? 14 कैरट, 18 कैरट या फिर 22 कैरट के? इसका जवाब शायद ही कोई दे पाए। क्योंकि अभी भारत में सोने के गहनों के लिए इस पैमाने को बताने वाली हॉलमर्किंग अनिवार्य नहीं है। केंद्र सरकार आने वाले दिनों में जल्द ही इस ओर एक बड़ कदम उठाने की तैयारी में है। इस सिलसिले में उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण के केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने कहा है कि जल्द ही सोने के गहनों की हॉलमार्किंग अनिवार्य हो सकती है।

यह कहें कि सरकार देश में बेचे जा रहे स्वर्ण आभूषणों के लिए शीघ्र ही हॉलमार्क अनिवार्य करने पर विचार कर रही है। पासवान ने भारतीय मानक ब्यूरो (बीआईएस) द्वारा विश्व मानक दिवस के उपलक्ष्य में मनाये जा रहे ‘वैश्विक मानक एवं चतुर्थ औद्योगिक क्रांति’ समारोह में बताया, ''बीआईएस ने तीन श्रेणियों 14 कैरट, 18 कैरट और 22 कैरट के लिए हॉलमार्क के मानक तय किये हैं। हम इसे शीघ्र ही अनिवार्य करने वाले हैं।'' फिलहाल सोने की शुद्धता का आकलना करने वाला मानक हॉलमार्क को इच्छानुसार अपनाया जाता है।

   

इसका प्रशासनिक प्राधिकरण बीआईएस के पास है, जो उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय के तहत आता है। इसके मंत्री ने उपभोक्ताओं के हित में मानक अपनाने की जरूरत पर जोर देते हुए यह कदम उठाने का फैसला लिया है।

हालमार्क, प्लेटिनम, स्वर्ण, रजत आदि बहुमूल्य धातुओं पर लगाया जाने वाला आधिकारिक चिह्न या मुहर है, जो उसकी गुणवत्ता प्रमाणित करने के लिये लगायी जाती है। हॉलमार्किंग के जरिए सोना के असली या नकली की पहचान करने में मदद मिलती है। 

हॉलमार्किंग का करने का काम भारत में भारतीय मानक ब्यूरो को सोने की शुद्धता परखने के लिए अधिकृत किया गया है। यह उच्च निकाय आईएस 15820:2009 से कुछ निश्चित परखने और हॉलमार्किंग केन्द्रों को मान्यता देता है। ये केन्द्र, एक बार मान्यता पाने के बाद, बीआईएस-सर्टिफाइड ज्वैलरों को हॉलमार्क प्रदान करने के लिए स्वीकृत हो जाते हैं।

यह हॉलमार्क में एक बीआईएस स्टैंडर्ड मार्क का लोगो। दूसरा परिशुद्ध मार्क होता हे, जो सोने के कैरेट को दर्शाता है और 1000 के मानक से उसकी गणना करता है। इस तरह से मार्क में 916 अंकित होने का अर्थ कि कुल धातु में सोने की मात्रा 91.6 प्रतिशत है। मार्क में सबसे अधिक संख्या 999 होती है। हालांकि गहनों में इस तरह का शुद्ध सोना बहुत कम उपयोग में लाया जाता है। 

बीआईएस स्टैंडर्ड के अनुसार, परिशुद्धता मार्क इस प्रकार होते हैं :— 958, 916, 875, 750, 585 और 375 जो क्रमश: 23, 22, 21, 18, 14 और 9 कैरेट सोने के बारे में बताता है।  

प्रस्तुति: दिनचर्या