+

देशभर में 1 अप्रैल से शुरू होगा अमरनाथ यात्रा का पंजीकरण

वर्ष 2019 में अमरनाथ यात्रा पर जाने वाले श्रद्वालुओं के पंजीकरण को लेकर तैयारियां अंतिम चरण में हैं। पंजाब नेशनल बैंक, जम्मू-कश्मीर बैंक और येस बैंक की 440 बैंक शाखाओं में 1 अप्रैल 2019 से पंजीकरण प्रक्रिया शुरू की जाएगी। पंजीकरण से पहले  मान्यता प्राप्त चिकित्सा केंद्रों में डॉक्टरों से हेल्थ सर्टिफिकेट लेना जरूरी होगा। इस प्रक्रिया में राज्य के विभिन्न चिकित्सा केंद्रों में 84 डाक्टर नियुक्त किए गए हैं। जिसमें अस्पताल अधीक्षक, ब्लाक मेडिकल ऑफिसर, मेडिकल ऑफिसर, शियन, कंसलटेंट फिजिशियन शामिल हैं। 

प्रतीकात्मक

 

यात्रा अवधि के दौरान रोजाना पहलगाम-चंदनबाड़ी और बालटाल ट्रैक से 7500-7500 यात्रियों के अलावा पंजतरणी हेलीकाप्टर सेवा से अलग से श्रद्धालुओं को यात्रा की इजाजत होगी। यात्रा के लिए 13 वर्ष से कम और 75 वर्ष से अधिक आयु वाले यात्री को इजाजत नहीं दी जाएगी। प्रदेश में कड़ी  सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए यात्रा के सभी एंट्री प्वाइंट पर जांच की जाएगी। बताया जा रहा कि इस साल अमरनाथ यात्रा में ऑनलाइन यात्री पंजीकरण भी शुरू किया जा सकता है। लेकिन यह सुविधा सामान्य यात्री पंजीकरण से कुछ देरी से शुरू होगी।

प्रतीकात्मक

 

ऑनलाइन पंजीकरण में श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड की वेबसाइट पर जरूरी जानकारी के साथ कंपलसरी हेल्थ सर्टिफिकेट अपलोड करना होगा। यात्रा के दौरान बालटाल/दोमेल और नुनवान/पहलगाम/चंदनबाड़ी बेस कैंप पर असली कंपलसरी हेल्थ सर्टिफिकेट की जांच की जाएगी। यह सेवा पायलट स्तर पर शुरू करने की तैयारी है। वर्ष 2011 में 6.36 लाख श्रद्वालुओं ने बाबा बर्फानी के दर्शन किए थे। जबकि अगले साल 2012 में यह आंकड़ा घटकर 6.20 लाख ही रहा।लेकिन उसके बाद यह आंकड़ा कभी भी चार लाख से ऊपर नहीं गया। बता दें वर्ष 2018 में यह आंकड़ा  घटकर मात्र 2.85 लाख ही रह गया।