+

बुद्धिस्ट सर्किट ट्रेन है चलता हुआ राजमहल

 आप सुना ही होगा कि हालही में "रामायण एक्सप्रेस" नामक ट्रेन कि शुरुआत हुई है। इस ट्रेन की ख़ास बात यह है कि यह स्पेशली उन स्थानों कि सैर आपको कराती है। जिन स्थानों का जुड़ाव भगवान श्रीराम के जीवन से रहा है। इसी प्रकार कि एक ट्रेन की शुरुआत 2007 में की गई थी, इस ट्रेन का नाम "बुद्धिस्ट सर्किट ट्रेन" है। यह ट्रेन आपको भगवान बुद्ध से जुड़े स्थानों की सैर कराती है। हालही में बुद्धिस्ट सर्किट ट्रेन फिर से चर्चा में आ गई है। इसका कारण यह है कि अब इस ट्रेन को और भी लग्जीरियस रूप दे दिया है। अब यह ट्रेन आपको किसी राजमहल जैसा ही अनुभव देगी। इसमें सफर करने से आपको ऐसा नहीं लगेगा कि आप किसी सामान्य ट्रेन में सफर कर रहें हैं बल्कि आपको एक 5 स्टार होटल में होने का अनुभव मिलेगा।

 8 दिन और 7 रात का होता है सफर

 आपको बता दें कि यह ट्रेन दिल्ली के सफदरजंग स्टेशन से यह ट्रेन चलती है। यहां से नालंदा, राजगीर, वाराणसी तथा सारनाथ होते हुए यह आपको लुंबनी जैसे स्थानों कि सैर कराती है। बुद्धिस्ट सर्किट ट्रेन नामक यह ट्रेन अक्टूबर से मार्च तक चलतीहै और 12 से 13 यात्रा तय करती है। इस ट्रेन के AC-1 में 96 और AC-2 में 60 लोग सफर कर सकते हैं। इस ट्रेन का संचालन IRCTC करती है तथा अब इस ट्रेन का पूरी तरह कायाकल्प हो चुका है। इस ट्रेन में कई नई सुविधाएं जोड़ी गई है तो कई चीजों में सुधार किया गया है। इस ट्रेन का लुक भी अब लग्जीरियस बना दिया गया है। ट्रेन के अंदर सोने से लेकर खाने पीने की सुविधा भी पहले से बहुत बढ़िया कर दी गई है।