+

यहां मौजूद है रावण का शव, 10 हजार वर्ष बाद सच्चाई आई सामने

रामायण से जुड़े प्राचीन इतिहास को जानने का प्रयास काफी समय पहले से होता आया है। माना जाता है कि आज श्रीलंका में रामायण काल से जुड़े कई तथ्य मौजूद हैं। ये तथ्य आज भी श्रीराम और रावण से जुड़ी कई महत्वपूर्ण बातों का उल्लेख करते हैं। पुरातत्वविदों ने ऐसे 50 से ज्यादा स्थानों को खोजने का दावा किया है। जिनका संबंध रामायण काल से रहा है। इस रिसर्च में पुरातत्वविदों ने दावा किया था की रावण का शव आज भी एक गुफा में रखा हुआ है। बताया जा रहा है कि यह गुफा श्रीलंका के रैगला जंगलों में स्थित है। 

10 हजार वर्ष पहले हुई थी थी मृत्यु - 

सबसे बड़ी बात यह है की इस बात का कोई प्रमाण आज तक नहीं मिल सका है की रावण की मृत्यु किस समय हुई थी। एक अनुमान के अनुसार रावण की मृत्यु श्रीराम के हाथों करीब 10 हजार वर्ष पहले हुई थी। रावण के शव के स्थान के बारे में यह कहा जाता है की वह रैगल के जंगलों में करीब 8 हजार फुट की ऊंचाई पर रखा हुआ है। बताया जा रहा है की यह शव एक ताबूत में रखा हुआ है तथा शव पर एक विशेष प्रकार का लेप लगाया हुआ है, जिसकी बजह से वह शव आज भी पहले जैसा ही है। 

यहां मौजूद है रावण का शव - 

श्रीलंका के इंटरनेशनल रामायण रिसर्च सेंटर के अनुसार जिस ताबूत में रावण का शव है। उसकी चौड़ाई 5 फीट तथा लंबाई 18 फीट है। यह भी माना जाता है की इस ताबूत के नीचे रावण का खजाना दबा हुआ है। जिसकी रक्षा कई खूंखार जीव जंतु तथा सांप करते हैं। मान्यता यह है की जब श्रीराम ने रावण का वध कर दिया था तो उसका शव विभीषण को अंतिम संस्कार के लिए दे दिया था। लेकिन राजगद्दी सम्हालने के बाद में विभीषण ने रावण के शव को ऐसा ही छोड़ दिया था। माना यह भी जाता है कि रावण के शव को नागवंश के लोग अपने साथ ले गए थे। असल में उनको पूरा भरोसा था की रावण की मृत्यु क्षणिक है और वह उनके उपचार से फिर जीवित हो उठेगा। लेकिन उपचार के बाद भी जब रावण जीवित नहीं हुआ तो उन्होंने रावण के शव की ममी बना दी ताकी वह हजारों वर्ष तक सुरक्षित रह सके।