+

धर्मनगरी के साथ बहुत ही रोमांचक जगह भी है ऋषिकेश

भारत एक धार्मिक देश माना जाता है। क्योंकि यहाँ धर्म पर विश्वास करने वाले सबसे ज्यादा लोग रहते हैं। इसी तरह भारत में बहुत सी ऐसी धार्मिक जगहें हैं, जिन्हें ईश्वर के होने का साक्षी माना जाता है। जिन जगहों पर ईश्वर को पूजने के लिए लोग विदेशों से तक चले आते हैं। ऐसी ही भारत की सबसे धार्मिक जगहों में से एक है पहाड़ों के घर में बसा, संतनगरी कही जाने वाला शहर "ऋषिकेश"

    ऋषिकेश को 'हिमालय का द्वार' भी कहा जाता है। क्योंकि यहां से गंगा नदी पर्वतों को पीछे छोड़कर मैदानी इलाके की तरफ बढ़ती है। ऋषिकेश का शांत वातावरण और यहाँ की शुद्ध हवा पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है। देवभूमि उत्तराखण्ड में बसी यह नगरी देश के सबसे पवित्र स्थानों में से एक है। ऋषिकेश को योगनगरी भी कहा जाता है। यहां के आश्रमों में योग साधना, आध्यात्म ज्ञान और ध्यान लगाने के लिए लोग देश-विदेश से आते हैं। कहते हैं इस जगह ध्यान लगाने पर मोक्ष की प्राप्ति होती है। ऋषिकेश को उत्तराखण्ड के 4 प्रसिद्ध धाम बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमनोत्री का प्रवेश द्वार भी माना जाता है। 

    इसके अलावा ऋषिकेश एक खूबसूरत पर्यटक स्थल भी है। यहां हर साल लाखों की संख्या में लोग घूमने आते हैं। धार्मिक नगरी होने के साथ यहां अनेक प्रकार का पर्यटन किया जा सकता है। 

आइये जानते हैं ऋषिकेश में आप किस किस प्रकार का आनंद ले सकते हैं…

1. राफ्टिंग: ऋषिकेश, भारत का सबसे अच्छा राफ्टिंग स्थल है। यहां गंगा नदी पर 30 km , 18 km, 12 km और 9 दूरी की राफ्टिंग कराई जाती है। नदी पर ठहरते पानी के साथ कुछ जगहों पर रोमांच से भरे अनेक रैपिड हैं, जहां पर नदी का पानी तीव्र गति से जाता है। बरसात का मौसम छोड़कर यहां सभी महीने राफ्टिंग चलती है। 

2. कैम्पिंग: राफ्टिंग के साथ-साथ ऋषिकेश में कैम्पिंग के लिए भी बहुत लोग आते हैं। इसमें लोग रात में खुले आसमान के निचे तम्बू लगाकर रहते हैं। साथ ही खुले में आग जलाकर उसके चारों ओर बैठते हैं और बातों का मज़ा लेते हैं।

 

3. जंपिंग हाइट्स: ऋषिकेश में आप बंजी जंपिंग या जंपिंग हाइट्स जैसे उच्च कोटि के रोमांच का भी भरपूर आनंद ले सकते हैं। यहां पर 83 मीटर (272 फुट) की ऊंचाई से जंप करवाया जाता है। 

4. नीर वाटर फॉल: यह ऋषिकेश से कुछ ही दूरी पर स्थित एक प्राकृतिक खूबसूरत झरना है। यह गर्मियों में पर्यटकों का केंद्र रहता है।

5. द बीटल्स आश्रम: प्राचीन कलाकृतियों से सुसज्जित द बीटल्स आश्रम को 84 कुटिया के नाम से भी जाना जाता है। यहां 84 छोटी छोटी कुटिया हैं। इस बेहतरीन और मनमोहक कलाकृतियों वाली जगह पर लोग योग साधना के लिए भी आते हैं। 

6. त्रिवेणी घाट (गंगा आरती): ऋषिकेश के त्रिवेणी घाट की गंगा आरती बहुत प्रसिद्ध है। इस आरती में सैकड़ों पंडितों के साथ देश-विदेश से आये हुए श्रद्धालु शामिल होते हैं। यह रोज़ाना शाम 7 बजे होती है। यदि आप कभी ऋषिकेश जाते हैं तो इस आरती में जरूर शामिल होना। 

     राम झूला, लक्ष्मण झूला, स्वर्ग आश्रम, परमार्थ निकेतन आदि भी यहां देखने लायक बहुत अच्छी जगह हैं। इसके अलावा पर्यटक यहां राजाजी नेशनल पार्क की जंगल सफारी का भी खूब आनंद लेते हैं।