+

अगर शर्दियों में वर्फ का लेना है मज़ा, तो जरूर जाइये "पहाड़ों की रानी"

दोस्तों मौसम कोई भी हो हर मौसम का अपना एक अलग ही मज़ा है। भले ही हर किसी की अन्य चीजों की तरह मौसम के मामले में भी अपनी-अपनी पसंद-नापसंद होती है। लेकिन हर मौसम में कुछ खूबसूरत पल होते हैं। इसलिए हमें हर मौसम के उस खूबसूरत पल का खूब आनंद लेना चाहिए। जिससे हम अपनी ज़िन्दगी के इन छोटे-छोटे पलों को जी कर अपनी ज़िन्दगी को खूबसूरत बना सकें। 

 इसके साथ ही मौसम के मामले में एक तर्क यह भी है कि भले ही कुछ लोगों को गर्मी और बरसात पसंद ना होते हों। लेकिन सर्दियों का सभी लोग हिल स्टेशन पर जाकर खूब आनंद उठाना चाहते हैं और सबका सपना होता है कि एक बार हिल स्टेशन जाएँ, वहां की बर्फ़बारी का खूब मज़ा लें, वहां जाकर प्रकृति का लुफ्त उठायें और पहाड़ों की शांति का अनुभव करें। फिर भी कुछ लोग जगह को लेकर असमंजस में रहते हैं और इसी असमंजस में उनकी पूरी सर्दी घर बैठे बैठे कट जाती है। 

 वैसे इंडिया में बहुत सारे खूबसूरत से हिल स्टेशन हैं। लेकिन अगर हम बात करें "पहाड़ों की रानी" की। तो सबसे पहले "मसूरी" का नाम आता है। जी हाँ उत्तराखंड की राजधानी देहरादून के 35km की दूरी पर स्थित 'मसूरी' को 'पहाड़ों की रानी' के नाम से भी जाना जाता है। यहाँ देश विदेश से हर साल लाखों पर्यटक घूमने को आते हैं। वैसे तो मसूरी का मौसम पूरे साल भर बहुत खूबसूरत होता है लेकिन सर्दियों में आसमान यहाँ की खूबसूरती पर बर्फ बिखेरकर चार चाँद लगा देता है। मसूरी किसी की तारीफ का मोहताज़ नहीं है। क्योंकि यहाँ की खूबसूरती देखते ही बनती है। फिर भी आइये जानते हैं मसूरी में जाकर कौन कौन सी जगहों का आप आनंद ले सकते हैं। 

गन हिल: यह मसूरी की दूसरी सबसे ऊँची छोटी है। यहाँ रोप वे यानि केबल कार के द्वारा भी पंहुचा जा सकता है। यहाँ से पूरी मसूरी को ऊपर से देखा जा सकता है। जब पूरी मसूरी में बर्फ पड़ी हो और आपको ऊपर से दीदार करने का मौका मिले तो यकीन मानिये आप इस पल का खूब मज़ा लेंगे।

लाल टिब्बा: लाल टिब्बा मसूरी का सबसे ऊँचा व्यू प्वाइंट है। यहाँ से आस पास की पहाड़ियों का खूबसूरत नज़ारा देखने को मिलता है। यहाँ पर टेलिस्कोप भी लगे हुए हैं। जिससे आप बद्रीनाथ और केदारनाथ की बर्फीली पहाड़ियों को भी देख सकेंगे। 

धनौल्टी: यह एक छोटा लेकिन बहुत खूबसूरत सा हिल स्टेशन है। यह मसूरी से 1:30 से 2 घंटे की दूरी पर है। यहाँ आप पहाड़ों के शांत वातावरण का अनुभव ले सकेंगे। यहाँ पहुंचते ही चिड़ियों की चहचहाहट पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करती है। ये जगह मसूरी से ज्यादा ऊंचाई पर है इसलिए यहाँ अधिक बर्फ पड़ती है। यहाँ आप बर्फ़बारी का अधिक मज़ा ले सकेंगे। 

ज्वाला देवी मंदिर: यह मंदिर मसूरी में हिन्दुओं के लिए एक प्रमुख स्थान है। यहाँ भी लोगों की काफी भीड़ देखने को मिलती है। यह जंगलों के बीच में एक खूबसूरत मंदिर है इसलिए अगर आप मसूरी जाते हैं तो इस मंदिर में भी जरूर जाएँ। 

जॉर्ज एवरेस्ट: यह मसूरी से थोड़ी दूरी पर एक ऊँची पहाड़ी है। इसक नाम जॉर्ज एवरेस्ट अंग्रेज जनरल 'सर जॉर्ज एवरेस्ट' की वजह से पड़ा। जिनके नाम पर दुनिया की सबसे ऊँची चोटी 'एवरेस्ट' का नाम भी पड़ा। यहाँ से दून घाटी का मनोहर दृश्य दिखाई देता है। 

 मसूरी में यहाँ घूमने के अलावा आप फ्लाइंग फॉक्स और रोप वे का मज़ा भी ले सकते हैं। यहाँ का मौसम गर्मियों में भी बहुत अच्छा रहता है। गर्मियों में आप यहाँ हैप्पी वैली, कैम्पटी फॉल, झारीपानी फॉल, क्लाउड एन्ड, मॉल रोड और मसूरी लेक जैसी अन्य जगहों का मज़ा भी ले सकेंगे। इसलिए आप गर्मियों में भी मसूरी घूमने जा सकते हैं।