+

श्री रामायण एक्सप्रेस से करें भारत और श्रीलंका की तीर्थयात्रा

भारतीय रेल ने धार्मिक तीर्थ के इच्छुक श्रद्धालुओं के लिए एक विशेष ट्रेन चलाने की योजना बनाई है। श्री रामायण एक्सप्रेस नाम की यह ट्रेन 14 नवंबर से शुरू होकर भारत समेत श्रीलंका के धार्मिक पर्यटन स्थलों का दर्शन करवाएगी। इसके जरिए तीर्थयात्री रामायण में वर्णित उन सभी स्थलों के प्रमुख गंतव्यों तक पहुंच सकेंगेजो भारत और श्रीलंका में मौजूद हैं। यह श्री रामायण एक्सप्रेस की भारत और श्रीलंका के दो भागों बंटी यात्राओं से संभव होगा। 

 भारतीय रेलवे का यह विशेष पर्यटन ट्रेन श्री रामायण एक्सप्रेस  भारत और श्रीलंका में 16 दिनों के दौरे के पैकेज में भगवान राम के जीवन से जुड़े चार महत्वपूर्ण स्थलों को कवर करेगी। श्री रामायण यात्राश्रीलंका के रूप में नामित तीर्थयात्रा सर्किट में दो यात्रा घटक होंगे। एक भारत में और दूसरा श्रीलंका में। दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से खुलने के बाद ट्रेन का अयोध्या में पहला पड़ाव होगा और इसके बाद ये हनुमान गढ़ीरामकोट और कनक भवन मंदिर जाएगी।

इस सिलसिले में ट्रेन रामायण सर्किट के महत्वपूर्ण स्थलों जैसे नंदीग्रामसीतामढ़ीजनकपुरवाराणसीप्रयागश्रृंगपुरचित्रकूटनासिकहम्पी और रामेश्वरम को कवर करेगी। इसकी यात्रा तमिलनाडु के रामेश्वरम में 16 दिनों में पूरी करेगी।

इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन ( आईआरसीटीसी ) के मुताबिक टूर पैकेज में धर्मशालाओं में भोजनआवासदर्शनीय-स्थलों की सैर की व्यवस्था होगी और आईआरसीटीसी के टूर मैनेजर भी तीर्थयात्रिओं के साथ पूरे दौरे की यात्रा करेंगे।

रामायण एक्सप्रेस ट्रेन में 800 यात्रियों की कुल क्षमता है और प्रति व्यक्ति टिकट की कीमत 15,120 रुपए रखी गई है। श्रीलंका दौरे के लिए अलग से शुल्क लिया जाएगावे चेन्नई से कोलंबो की उड़ान ले सकते हैं। इसमें 5 रात और 6 दिन के श्रीलंका दौरे के पैकेज की कीमत प्रति व्यक्ति 36,970 रुपए होगी। इस टूर पैकेज में कैंडीनुवारा एलियाकोलंबो और नेगोंबो जैसे गंतव्य को शामिल किए गए हैं।

उल्लेखनीय है कि आईआरसीटीसी इससे पहले भी 28 अगस्त से 9 सितंबर 2018 तक त्रिवेन्द्रम के रामायण सर्किट से पंचावतीचित्रकूटश्रिंगवेरपुरतुलसी मानस मंदिरदरभंगासीतामढ़ीअयोध्या और रामेश्वरम तक एसी पर्यटक ट्रेन का परिचालन करवा चुकी है।