+

पुदीने की चटनी तो बहुत खाई होगी, अब फायदे भी जान लीजिए

आमतौर पर देखा जाता है कि जब कभी सब्जी, दाल, चटनी या फिर किसी जूस में स्वाद और महक बढ़ानी हो, तो पुदीने का इस्तेमाल किया जाता है। यहां तक कि टूथपेस्ट, माउथवाश, चुइंगम और मुँह की दुर्गन्ध दूर करने या मुँह को फ्रेश रखने वाली सभी चीजों में भी पुदीने का इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि स्वाद और महक बढ़ाने के अलावा पुदीना कई रोगों को दूर करने वाली औषधि भी है। जी हाँ पुदीने की ये महकदार पत्तियां कई बीमारियों को दूर करने में भी मदद करती हैं।

आइये जानते हैं पुदीने के फायदे 

पेट के लिए है फायदेमंद: पेट की परेशानियों से बचने के लिए पुदीना बहुत फायदेमंद होता है। पेट की समस्याओं से निदान पाने के लिए प्रतिदिन किसी न किसी रूप में पुदीने का सेवन आवश्यक है। आप चाहें तो हर दिन पुदीने से बनी चाय पीएं या फिर पुदीने का जूस भी पी सकते हैं। पुदीने का ताज़ा रस नींबू और शहद के साथ बराबर मात्रा में लेने पर पेट से सम्बंधित कई बीमारियां दूर होती हैं। 

बीपी को करे कंट्रोल: पुदीना हाई तथा लो दोनों प्रकार के बीपी को ठीक करने में सहायक है। हाई  बीपी के मरीज को बिना चीनी या नमक के पुदीने का सेवन करना चाहिए। जबकि लो बीपी के मरीज के लिए पुदीने का रस या चटनी को सेंधा नमक, काली मिर्च और किशमिश डालकर सेवन करना लाभदायक है। 

अस्थमा का उपचार: पुदीना अस्थमा से बचने के लिए एक बेहतरीन औषधि है। पुदीना फेफड़ों, वायुनलियों और श्वासनलियों से बलगम को निकलकर अस्थमा के लक्षणों से बचाता है। प्रतिदिन पुदीने की चाय पीएं, पुदीने के तेल की कुछ बूंदे नाक, छाती और गर्दन पर लगाएं इससे सांस लेने में आसानी होगी। साथ ही खांसी से परेशान लोगों को एक बर्तन में गर्म पानी लेकर उसमे कुछ बूंदे पुदीने के तेल की डालकर उसे सूंघना चाहिए। इससे कफ दूर होता है और सांस ठीक से आती है। 

कई तरह के सिर दर्द से दे राहत: पुदीना कई प्रकार के सिर दर्द में राहत दिलाता है। खास तौर पर माइग्रेन और तनाव से सम्बंधित सिर दर्द में इसका उपयोग किया जाता है। हर दिन एक कप पुदीने की चाय पीने से तनाव से काफी राहत मिलती है। किसी अन्य तेल के साथ कुछ बूंदे पुदीने की मिलाकर गर्दन के पिछले हिस्से या कनपट्टी पर लगाकर या फिर सिर पे मालिश करके दर्द दूर किया जा सकता है। इससे रक्त के संचार में भी सुधार होता है और तनावग्रस्त मासपेशियां ठीक होती हैं।

पुदीने से कील मुहासे, बालों के झड़ने, मांसपेशियों के दर्द और डी-हाइड्रेशन जैसी परेशानी भी दूर होती है। यहां तक कि पुदीने की सूखी पत्तियों के चूर्ण को शहद की समान मात्रा में मिलाकर सेवन करने से लड़कियों के मासिक धर्म से सम्बंधित परेशानीयां भी ठीक हैं। इसी तरह से पुदीने जैसी लाभदायक औषधियों का सेवन करें और स्वस्थ रहें।