+

अगर रहना है जवान तो खाये शकरकंद

सब्जी मंडी में आसानी से मिल जाने वाले शकरकंद को आमतौर पर लोग अन्देखा कर लेते हैं। इसका स्वाद आलू के जैसे, लेकिन थोड़ा मीठा होने के कारण इसे 'स्वीट पोटैटो' भी कहते हैं। सर्दियों में इसे खाना बहुत फायदेमंद रहता है। इसमें उपस्थित बहुत से गुण हमें सर्दियों में होने वाली बीमारियों से दूर रखते हैं। पुराने समय में लोगों द्वारा सर्दियों में कंद-मूल खाये जाते थे। क्योंकि इससे शरीर गर्म रहता है। 

जानिये शकरकंद के अन्य फायदे 

आयरन की कमी से हमारे शरीर में ऊर्जा नहीं रहती, रोग प्रतिरोधक क्षमता भी कम होती है और ब्लड सेल्स का निर्माण भी अच्छे से नहीं होता। शकरकंद खाने से शरीर में आयरन की कमी दूर होती है। 

शकरकंद में भरपूर मात्रा में फाइबर और कार्बोहाइड्रेड होता है। यह सर्दी से हमारे शरीर को बचाता है। इसके सेवन से शरीर में खून भी बढ़ता है। 

शकरकंद में विटामिन बी6 अच्छी मात्रा में पाया जाता है। यह हमारे शरीर में होमोसिस्टीन नाम के अमीनो एसिड के स्तर को कम करने में मदद करता है। इस प्रकार के एसिड की मात्रा बढ़ने से बीमारियों का खतरा भी बढ़ जाता है। 

शकरकंद में कैरोटीनॉयड नाम का एक तत्व होता है, जो ब्लड शुगर को नियंत्रित करता है। वहीं इसमें विटामिन बी6 भी मौजूद होता है, जो डायबिटिक हार्ट डिज़ीज़ में भी फायदेमंद रहता है।

लाल शकरकंद में एंटी-कार्सिनोजेनिक गुण होता है। सर्दियों में इसके सेवन से कैंसर का खतरा बहुत कम हो जाता है।

 

इसमें विटामिन डी होता है। जो दांतों, हड्डियों, त्वचा व नसों की ग्रोथ और मजबूती के लिए बहुत जरूरी होता है। 

हल्का मीठा होने के कारण डायबिटीज़ से परेशान लोग इसके सेवन से डरते हैं, जबकि शकरकंद खाने से खून में शर्करा का स्तर ठीक रहता है और इन्सुलिन की मात्रा भी ठीक रहती है।

शकरकंद में इसी प्रकार के कई गुण होते हैं, जिससे हम बीमारियों से बच सकते हैं। डॉक्टर की सलाह से ऐसे ही और हेल्दी खाने को अपनी दिनचर्या में जोड़ें और स्वस्थ रहें।