+

आपकी बीमारियों की जानकारी देते हैं नाख़ून

क्या आपने कभी ध्यान दिया है कि आपके नाखून आपकी सेहत की जानकारी भी देते हैं। आपको बता दें की नाख़ून कैरटिन नामक पदार्थ से बने होते हैं। नाखूनों के अलावा यह पदार्थ बालों तथा त्वचा में भी पाया जाता है। मानव शरीर में पोषक तत्वों कि कमी का प्रभाव कैरटिन पर पड़ता है और उसकी सतह प्रभावित होने लगती है। इसके साथ ही नाखूनों का रंग भी बदलने लगता है। ध्यान रखें कि यदि नेल पॉलिश का उपयोग किये बिना ही नाखूनों का रंग बदल रहा है तो यह आपके शरीर में बीमारियों के पनपने का संकेत हो सकता है। आज हम आपको इस बारे में भी जानकारी दे रहें हैं। आइये आपको इस बारे में विस्तार से बताएं। 

नाख़ून और आपका स्वास्थ्य - 

दुनियांभर में हुए शोधों से प्रमाणित हो चुका है कि बिमारी के दौरान आपके नाख़ून का रंग बदल जाता है। जैसे की सफ़ेद नाख़ून लीवर से सम्बंधित बीमारियों जैसे हेपेटाइटिस कि खबर देते हैं। इस प्रकार से नाख़ून हमारे स्वस्थ या अस्वस्थ होने कि खबर देते हैं। आइये जानते हैं कि नाखूनों से कैसे स्वास्थ्य का संकेत मिलता है। 

1 - पीले नाख़ून - 

यदि नाख़ून पीले रंग के हों तथा मोटे हों तो वे फेफड़े संबंधी समस्याओं का संकेत देते हैं। इसके अलावा पीले रंग के नाख़ून फंगल इन्फेड़क्श्न, सिरोसिस, थायरॉइड जैसी समस्याओं का भी संकेत देते हैं। 

2 - आधे गुलाबी और आधे सफ़ेद नाख़ून - 

इस प्रकार के रंग वाले नाख़ून किडनी की समस्या का संकेत देते हैं। इसके अलावा यदि नाखूनों की पर्त सफ़ेद है तो वे खून कि कमी यानि एनीमिया का भी संकेत देते हैं। 

3 - नाखूनों पर सफ़ेद धब्बे - 

यदि नाखूनों पर सफ़ेद धब्बे पड़ने लगते हैं तथा वे बढ़ते ही जाते हैं। तो यह पीलिया या लीवर की समस्या का संकेत होता है। 

4 -   हल्के पीले या फीके नाख़ून -

यदि नाखूनों का कलर फीका पड़ जाता है या फिर वे हल्के पीले पड़ जाते हैं तो यह कन्जेस्टिव हार्ट फेलियर, लिवर संबंधी या खून की कमी के लक्षण हो सकते हैं। इस प्रकार यह देखा गया है कि नाख़ून हमारे शरीर कि कई समस्याओं का संकेत देते हैं। सामान्य रूप से खून की कमी या पीलिया रोग के लक्षण नाखूनों के माध्यम से ही जल्दी पता लग जाते हैं। यदि आपको भी अपने नाख़ून के कलर में कोई अंतर दिखाई पड़ता है तो आप डॉक्टर से तुरंत मिले तथा स्वास्थ्य संबंधी सलाह अवश्य लें।  

प्रस्तुति: दिनचर्या