+

आँवला है हर रोग का इलाज, सर्दियों में खाने से भी है कई फायदे।

आँवला के गुणों पर आयुर्वेद में कई किताबें लिखी जा चुकी हैं। आयुर्वेद में आँवले को 100 गुणों की एक दवा माना जाता है। प्रतिदिन इसे खाने से इंसान जवान, सुंदर और स्वस्थ रहता है। रोज़ाना आँवला खाने से कई बड़ी बड़ी बीमारियाँ नहीं होती। आमतौर पर मौसम के विरुद्ध आहार लेने पर इंसान बीमार पड़ जाता है। लेकिन आँवला तो इतना गुणी होता है कि इसे हम किसी भी मौसम में खाकर स्वस्थ रह सकते हैं। आयुर्वेद ज्ञान के लिए प्रसिद्ध 'चरक ऋषि' ने सबसे पहले आँवले का महत्व समझा था। चरक ऋषि ने अपने 'आयुर्वेद' नामक ग्रन्थ में आँवले के गुणों को विस्तार से बताया है।

सर्दियों में आँवला खाने के फायदे

आयुर्वेद में आँवले को संजीवनी माना गया है। रोज़ाना आँवला खाने से दाँत मजबूत रहते हैं, त्वचा साफ़ रहती है यहाँ तक की बालों को झड़ने से रोकने और उनकी लम्बाई बढ़ाने के लिए भी आँवला उपयोगी है। वैसे तो आँवला खट्टा और ठंडी प्रकृति का होता है लेकिन इसे सर्दियों में भी स्वस्थ रहने के लिए विशेष तौर पर नित्य रूप में लिया जाता है। इससे होने वाले फायदों की बात करें तो ये छोटी तथा बड़ी दोनों प्रकार की बीमारियों को दूर रखता है। शर्दियों में हल्के गरम पानी के साथ आँवले का रस मिलाकर पीने से हमारे शरीर में रोगों से लड़ने की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाती है। सर्दियों में रोज आँवला का सेवन करने से शरीर में ऊर्जा का संचार होता है। आँखों की रोशनी बढ़ाने के लिए भी आँवला लाभकारी है। साथ ही आँवले के जूस को पीने से शरीर में रक्त साफ़ रहता है, और रक्त से सम्बंधित रोग नहीं होते। नहाने के पानी में आँवले का रस मिलाकर नहाने से त्वचा सम्बंधित रोग नहीं होते। सर्दियों में अक्सर हमारा पाचन तंत्र ख़राब हो जाता है। आँवला नित्य खाने से पाचन तंत्र भी स्वस्थ रहता है। जिससे पेट से सम्बंधित बीमारियाँ नहीं होती।

   सर्दियों में आँवला खाने से एक और फायदा यह होता है कि आँवला खाने से हमारी श्वसन प्रणाली भी साफ़ रहती है। सर्दी, जुकाम, खाँसी और दमा जैसे रोगों में सांस लेने में तकलीफ होती है। लेकिन आँवला खाने से इस प्रकार की समस्या नहीं आती। 

आँवला कब नहीं खाना चाहिए।

हर वो चीज जो हमें फायदा देती है उससे साथ में कुछ नुकसान भी होता है। हालाँकि आँवले से कोई गंभीर नुकसान नहीं हैं लेकिन अगर सही समय और सही तरीके से ना लिया जाए तो बात थोड़ा बिगड़ सकती है।

·         आँवला खाने से पेट में गैस हो सकती है। अगर आप पहले से ही इस बीमारी से ग्रस्त हैं तो आँवला खाते समय थोड़ा ध्यान रखें।

·         आँवले में भारी मात्रा में विटामिन सी होता है तो अगर आपको विटामिन सी लेने के लिए माना किया गया हो तो आँवले से दूर रहें।

·         आँवला पेट की कब्ज के लिए लाभदायक है तो ऐसे में अगर आप आँवले के साथ पानी की मात्रा नहीं बढ़ाते हो तो और तकलीफ हो सकती है। बेहतर है आँवले के सेवन के समय पानी की मात्रा भी बढ़ा दें।

·         एंटीबायोटिक दवाइयों का अगर आप सेवन कर रहें हैं तो आवला खाने से पहले डॉक्टर की राय अवस्य लें।

·         सर्दी और जुकाम के समय कच्चा आँवला ना खाएं, आँवले का रस हल्के गरम पानी के साथ पियें या फिर आँवले का चूर्ण शहद के साथ लें।

इसी तरह आँवले का नियमित मात्रा और नियमित समय में सेवन करने से आप स्वस्थ रह सकते हैं। साथ ही आँवले के सेवन के साथ आप पानी की मात्रा जरूर बढ़ा दें। अगर आप सर्दियों में आँवले का सेवन करते हैं तो पानी को हल्का सा गरम कर लें और पानी की मात्रा अधिक रखें।