+

क्या होता है PM 2.5 और PM 10?

दिवाली से पहले ही दिल्ली का वातावरण बहुत प्रदूषित दिख रहा है। चारों तरफ धुंध फैली हुयी है और लगातार गिर रही इस एयर क्वॉलिटी के कारण लोगों को सांस लेने में तकलीफ हो रही है। दिल्ली की हवा में रसायन के बड़े बड़े हानिकारक शब्द तैर रहे हैं। एयर क्वालिटी इंडेक्स के ताज़ा आंकड़ों के अनुसार भी एयर क्वॉलिटी में कमी देखने को मिली।

    सोमवार सुबह को 'एयर क्वालिटी इंडेक्स' के अनुसार दिल्ली में मंदिर मार्ग पर PM 10 level को 707 और PM 2.5 को 663 दर्ज किया गया, जबकि PM 10 level क्रमशः जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम और मेजर ध्यान चंद राष्ट्रीय स्टेडियम के आसपास 681 और 676 था। आपको बता दें कि Good Air Category का एयर क्वालिटी इंडेक्स का 0-50 के बीच में होना चाहिए। दिल्ली के आज सुबह का एयर क्वालिटी इंडेक्स सारे स्तर को पार करते हुए ‘hazardous’ (खतरनाक) category में आता है। इससे आप अंदाज़ा लगा सकते हैं कि अभी दिल्ली की एयर क्वालिटी कितनी खतरनाक है। एक तरफ दिल्ली ने धुंध चादर ओड़ी हुयी है और दिवाली के पटाखे जलने अभी बाकी हैं

PM का मतलब होता है Particulate Matter. हवा में मौजूद ऐसे Fine particles (छोटे कण) जो हवा को प्रदूषित करते हैं। जिनका वातावरण में level बढ़ना हमारे स्वाथ्य के लिए बहुत की खतरनाक होता है।

    PM 10 का मतलब होता है 10 माइक्रोमीटर diameter (व्यास) वाले particles और PM 2.5 का मतलब है 2.5 माइक्रोमीटर diameter (व्यास) वाले particles. एक इंसान का बाल, PM 2.5 से 30 गुना बड़ा होता है। ये इतने छोटे होते हैं की आँखों से नहीं दिखाई देते। सिर्फ टेलीस्कोप से ही हम इसे देख सकते हैं। इंसान के बाल का व्यास 50-70 माइक्रोमीटर होता है। वातावरण PM 2.5 के level बढ़ने से हवा में धुंध फ़ैल जाती है जिससे आस पास दिखाई देना कम हो जाता है। PM 2.5 हवा के साथ हमारे शरीर में प्रवेश करते हैं और हमारे फेफड़ों में घुस जाते हैं जिससे हमें सांस लेने में तकलीफ होती है। इसके कारण हमें अस्थमा जैसी कई खतरनाक बीमारियाँ हो सकती हैं।