+

निलंबित किए जाने के बाद हार्दिक ने खुद को कमरे में किया बंद - हार्दिक के पिता

भारतीय क्रिकेट टीम के ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या का आजकल समय कुछ ठीक नहीं चल रहा है। हाल ही में बॉलीवुड डायरेक्टर करण जौहर के शो 'कॉफी विद करण' में पहली बार फ़िल्मी सेलिब्रिटीज़ को छोड़कर क्रिकेटर्स को बुलाया गया। इसमें क्रिकेटर हार्दिक पांड्या और केएल राहुल शो में बतौर सेलिब्रिटीज़ आए। इस दौरान पांड्या ने कुछ आपत्तिजनक बयान देकर विवादों के कुटली में सिर दे डाला। जिसका परिणाम पांड्या अब भुगत भी रहे हैं। पांड्या को ऑस्ट्रेलिया इसके बाद न्यूजीलैंड दौरे से बाहर कर दिया गया है। और बीसीसीआई के अगले फैसले तक वो निलंबित ही रहेंगे।

प्रतीकात्मक

बेटे ने खुद को घर में किया बंद - हिमांशु पांड्या

वहीँ अब विवादों और उन पर लिए गए इस फैसले के बाद हार्दिक के पिता हिमांशु पांड्या ने कहा कि, 'हार्दिक निलंबित किए जाने से बहुत निराश है। उसे टीवी पर दिए गए अपने बयानों पर पछतावा भी है। उसने विश्वास दिलाया है कि वह अब कभी ऐसी गलती नहीं दोहराएगा। हमने भी अब यह तय किया कि इस बारे में उससे कुछ बात नहीं करेंगे।'

साथ ही हार्दिक के पिता ने कहा कि, 'जब से हार्दिक ऑस्ट्रेलिया से लौटा है, वह घर से बाहर नहीं निकला। वह किसी की फोन कॉल भी नहीं ले रहा है। उसे पतंग उड़ाना बेहद पसंद है, लेकिन इस बार मकर संक्रांति पर उसने पतंग भी नहीं उड़ाई। क्रुणाल ने भी इस बारे में हार्दिक से किसी प्रकार की बातचीत नहीं की। अब हमें बीसीसीआई के अगले फैसले का इन्तजार है।'

इससे पहले भी हार्दिक की बयानबाजी के कुछ दिन बाद ही पिता हिमांशु पांड्या ने बचाव करते हुए कहा था कि हार्दिक ने वह मस्तीभरे अंदाज में कहा था। उसे गंभीरता से लेने की जरूरत नहीं है। उसने दर्शकों का मनोरंजन किया। हालांकि शो में जो भी बातें हार्दिक ने कही, उससे क्रिकेटरों की छवि को नुकसान पंहुचा है। 

ऐसे बयानों से कोई संबंध नहीं - विराट कोहली

बता दें कि हार्दिक पांड्या के कॉफी विद करण शो में महिलाओं के संबंध बयानबाजी के बाद उनकी और केएल राहुल की खूब आलोचना हुई थी। जिसके बाद टीम के कल्चर पर भी सवाल उठना शुरू हो गया था। वहीँ भारतीय कप्तान विराट कोहली ने भी इस बयान पर पल्ला झाड़ते हुए कहा कि हमारा इस तरह के बयान से कोई संबंध नहीं है। यह बयान व्यक्तिगत है और हम इसका समर्थन नहीं करते।