+

पंकज आडवाणी विश्व बिलियर्ड्स चैंपियनशिप के चौथी बार बने विजेता

बिलियर्ड्स भले ही अमीरों का खेल माना जाता हो, लेकिन इसके चैंपियनशिप पर विश्व विजेता पंकज आडवाणी कब्जा बरकरार है। बेंगलुरु के 33 साल के दिग्गज क्यू खिलाड़ी ने 18 नवंबर को यंगून में आईबीएसएफ विश्व बिलियर्ड्स चैंपियनशिप के लंबे और छोटे दोनों प्रारूपों के खिताब का रिकॉर्ड चौथी बार अपने नाम कर लिया है।

आडवाणी दुनिया के इकलौते खिलाड़ी हैं, जो विश्व स्तर पर बिलियर्ड्स और स्नूकर खेलते है और इनमें निरंतर जीत हासिल की है। आडवाणी इस साल तीन विश्व खिताब जीत चुके हैं।

अपने लिए उन्होंने खिताब नंबर21 पर कब्जा किया है। यह जीत आडवाणी को फाइनल में दो बार के एशियाई रजत पदक विजेता भारत के ही बी. भास्कर को फर्स्ट टू 1500 (1500 अंक पहले पूरा करने का प्रारूप) मुकाबले में शिकस्त देकर मिली। इससे पहले पंकज आडवाणी ने 150-अप प्रारूप में अपना लगातार तीसरा आईबीएसएफ बिलियर्ड्स खिताब जीता था। इस तरह से अब उनके नाम कुल विश्व खिताबों की संख्या 20 हो गई है।

पंकज ने पहला पेशेवर बिलियर्ड्स विश्व खिताब 2009 में जीता था।

इससे पहले वह एमेच्योर विश्व बिलियर्ड्स और स्नूकर चैंपियनशिप जीत चुके थे।  उन्होंने 2006 में दोहा में हुए एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीता। यही नहीं पंकज आडवाणी 2008 के और नौ बार के चैंपियन मार्क रसेल को हराकर विश्व पेशेवर बिलियर्ड्स चैंपियनशिप की प्रतियोगिता जीत चुके हैं। इस जीत के साथ ही पंकज ने बिलियर्ड्स के 139 वर्षों के इतिहास में इस खिताब पर कब्जा करने वाले दूसरे भारतीय बन गए थे। इससे पहले वर्ष 1992 में यह खिताब गीत सेठी ने जीता था।

प्रस्तुति: दिनचर्या