+

भारतीय महिला फुटबॉल टीम पहली बार पहुंची टोक्‍यो ओलिंपिक क्‍वालिफायर के दूसरे दौर में।

भारत की महिला फुटबॉल टीम यंगून में मेजबान म्यांमार टीम के खिलाफ संघर्ष भरे मैच में हारने के बावजूद 13 नवंबर को पहली बार ओलिंपिक क्वॉलिफायर्स के दूसरे दौर में जगह बना ली। इस तरह से भारतीय महिला फुटबॉल टीम '2020 टोक्‍यो ओलिंपिक क्वालीफायर' के दूसरे राउंड में पहुंचकर इतिहास रच दिया है। इस प्रतियोगिता के लिए ऐसा पहली बार हुआ है, जो भारत के लिए गर्व की बात है।

यह स्थान ग्रुप सी में दूसरे पायदान पर रहने के कारण मिला। ग्रुप सी में मेजबान म्‍यांमार शीर्ष पर पहुंच गया। ओलिंपिक क्‍वालीफायर का दूसरा राउंड अप्रैल 2019 में खेला जाएगा, जिसमें 12 टीमें को चार अलग—अलग ग्रुप में बांटी होंगी। प्रत्येक ग्रुप में चार चार टीमें रहेंगी।

भारत की महिला राष्ट्रीय फुटबॉल टीम अखिल भारतीय फुटबॉल संघ द्वारा नियंत्रित है, जो महिलाओं की अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल प्रतियोगिताओं में भारत का प्रतिनिधित्व करती है। इस टीम ने टीम 7 सितंबर 2012 से खेलना शुरू किया था।

अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ ने भारतीय महिला फुटबॉल टीम को ओलंपिक क्वालीफायर की तैयारी करने में कोई कारे—कसर नहीं छोड़ी है। इस सिलसिले में उसे एक से छह अगस्त तक कोटिफ टूर्नामेंट के लिए स्पेन भी भेजा गया था। ऐसा पहली बार हुआ थ जब भारतीय महिला टीम किसी बड़े टूर्नामेंट में हिस्सा लेने के लिए यूरोप गई थी। भारतीय महिला टीम के नाम एक और उपलब्धि सैफ महिला चैंपियनिशप की भी है, जिसके 19 मैचों से जीत हासिल कर चुकी है। 

भारत की 20 सदस्यीय टीम इस प्रकार है:—

गोलकीपर : ई पेंथोई चानू, अदिति चौहान, ओ रोशनी देवी। डिफेंडर्स : एल आशालता देवी, मनीषा पन्ना, उमापति देवी, जबामनी तुडु, दालिमा छिब्बर, एनजी . स्वीटी देवी। मिडफील्डर्स : संगीता बास्फोर, संजू, आई परमेश्वरी देवी, एम मंदाकिनी देवी, इंदुमती कथिरेसान। फारवर्ड : वाई कमला देवी, अंजू तमांग, एन रतनाबाला देवी, एनजी बाला देवी, डांगमेई ग्रेस, आर संध्या रंगनाथन।