+

आईसीसी महिला विश्वकप टी—20 में भारत की स्थिति

वेस्ट इंडीज़ में आईसीसी महिला विश्वकप टी-20 टूर्नामेंट में कुल 10 टीमें हिस्सा ले रही हैं। इनमें दक्षिण अफ़्रीकाऑस्ट्रेलियाइंग्लैंडभारतन्यूज़ीलैंड और पाकिस्तान को  सीधे-सीधे भाग लेने का मौक़ा मिला है।

वेस्ट इंडीज़ को मेज़बान करने का मौका बांग्लादेश को क्वॉलिफ़ायर टूर्नामेंट में पहले और आयरलैंड को दूसरे स्थान पर रहने के कारण मिला। इस टूर्नामेंट में शामिल टीमों को दो ग्रुप में बांटा गया है। ग्रुप ए में इंग्लैंडदक्षिण अफ़्रीकाश्रीलंकावेस्टइंडीज़ और बांग्लादेश शामिल हैं। ग्रुप बी में ऑस्ट्रेलियाभारतन्यूज़ीलैंडपाकिस्तान और आयरलैंड  हैं।

आईसीसी महिला विश्व टी20 टूर्नामेंट में भारतीय टीम आज तक सेमीफ़ाइल से आगे नहीं बढ़ सकी हैं। वह दो बारसाल 2009 और 2010 में सेमीफ़ाइनल में पहुंची और उसके बाद साल 2012, 2014 और 2016 में ग्रुप स्टेज में ही हारकर बाहर हो गई।

 

महिला वर्ल्ड कप का इतिहास

वर्ष     विजेता  हारने वाली टीम  नतीजा  स्थान

2009       इंग्लैंड   न्यूज़ीलैंड 6 विकेटों से जीत लंदन

2010       ऑस्ट्रेलिया      न्यूज़ीलैंड 3 रनों से जीत   ब्रिजटाउन

2012       ऑस्ट्रेलिया      इंग्लैंड   4 रनों से जीत   कोलंबो

2014       ऑस्ट्रेलिया      इंग्लैंड   6 विकेटों से जीत ढाका

2016       वेस्टइंडीज़      ऑस्ट्रेलिया      8 विकेटों से जीत कोलकाता

 

जोश बरकरार है

 भारतीय महिला क्रिकेट को भले ही विश्वकप टी—20 में अभी तक सबसे बड़ी सफलता नहीं मिली हो लेकिर हरमनप्रीत कौर की कप्तानी में जोश और उम्मीद बरकरार है। टीम में बेहद अनुभवी मिताली राजस्मृति मंधानादीप्ति शर्मावेदा कृष्णमूर्तिएकता बिष्ट और युवा खिलाड़ी पूजा वस्त्रकारमानसी जोशी और अनुजा पाटिल शामिल हैं।

भारतीय टीम के लिए टी20 स्वरूप में मिताली राज ने 2176 रनहरमनप्रीत कौर ने 1703, स्मृति मंधाना ने 868, पूनम राऊत ने 719 और वेदा कृष्णमूर्ति ने 647 रन के रिकार्ड हैं।