+

IPL 2013 फिक्सिंग में एक नया मोड़, फिर से हो सकती है जांच शुरू

IPL 2013 फिक्सिंग में एक नया मोड़, फिर से हो सकती है जांच शुरू

2013 आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग स्कैंडल की जांच करने वाले जस्टिस मुकुल मुद्गल पैनल के सदस्य बीबी मिश्रा ने कहा कि वह सबूतों की कमी के कारण  फिक्सिंग में जांच पूरी नहीं कर पाए थे। उन्होंने यह भी कहा की मुझे पता चला था कि एक भारतीय खिलाड़ी बुकी के संपर्क में था लेकिन हमें पर्याप्त सबूत नहीं मिल पाये। मिश्रा ने यह भी स्पष्ट किया कि हमें कोर्ट से भी पूरा सपोर्ट मिल रहा था और अधिक समय भी मांगते तो मिल जाता लेकिन सबूत मिल पाने के कारण जांच रोकनी पड़ी थी।

  मिडिया के पूछे जाने पर मिश्रा ने बताया की मैंने जांच के दौरान कई खिलाड़ियों से बात की थी। फिर जब सटोरी से बात हुयी तो उसने मुझे सबूत सौंपने की बात कही थी लेकिन फिर उसने मना कर दिया। मिश्रा का मानना है कि उस समय सटोरियों को बुकी के द्वारा धमकी दिए जाने पर उन्होंने सबूत देने से मना किया। 

  मिश्रा ने कहा कि वह बीसीसीआई के भ्रष्टाचार विरोधी इकाई के प्रमुख अजित सिंह के साथ अपनी सभी जांच लीड को साझा करेंगे। मिश्रा ने यह भी बताया किअजीत सिंह भारतीय पुलिस सेवा में मेरे वरिष्ठ अधिकारी रह चुके हैं। सभी रिपोर्ट अजित सिंह के सामने आने पर उन्होंने मुझसे संपर्क किया था तो मैंने कहा कि " सर, मैं दिल्ली से भुवनेश्वर शिफ्ट हो रहा हूँ, मुझे थोड़ा समय चाहिए।" फिर जब मैं दिल्ली आया तो वो एशिया कप के लिए दुबई में थे।‘