+

ISRO ने किया नया सैटेलाइट लांच, अंतरिक्ष से दुश्मन की हलचल पर रख सकेगा नजर

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने सोमवार 1 अप्रैल को एक बड़ी कामयाबी हासिल कर ली है। दरअसल, भारत ने श्रीहरिकोटा से इंटेलीजेंस उपग्रहएमिसैट’ का सफल प्रक्षेपण कर लिया है। सोमवार सुबह 9 बजकर 27 मिनट पर भारतीय रॉकेट पोलर सैटेलाइट लांच (पीएसएलवी) के द्वारा इस इंटेलीजेंस उपग्रह को ऑरबिट में भेजा गया। एमिसैट का प्रक्षेपण विशेष तौर पर रक्षा अनुसंधान विकास संगठन (डीआरडीओ) के लिए किया गया है। यह देश की रक्षा के क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। इस उपग्रह के द्वारा दुश्मन पर नजर रखी जा सकेगी।

प्रतीकात्मक

एमिसैट को इसरो और डीआरडीओ के साझा प्रयास से तैयार किया गया है। इस उपग्रह को खासतौर पर भारत-पाक सीमा पर नजर रखने के लिए तैयार किया गया है। यह सीमा पर किसी इलेक्ट्रॉनिक या किसी अन्य तरह की मानवीय गतिविधि पर नजर रख सकेगा। इसके अलावा यह उपग्रह सीमा पर रडार और सेंसर पर भी नजर रख सकेगा। सीमा पर संचार से जुड़ी गतिविधियां भी इस उपग्रह से नहीं बच सकेंगी। यह उपग्रह देश की सुरक्षा में भारतीय सुरक्षा एजेंसियों की भरपूर मदद कर पाएगा। इस प्रक्षेपण में भारतीय रॉकेट पोलर सैटेलाइट लांच व्हीकल (पीएसएलवी) एमिसैट के साथ 28 अन्य उपग्रहों को भी अंतरिक्ष में ले गया।

प्रतीकात्मक

अंतरिक्ष के क्षेत्र में भारत लगातार आगे बढ़ रहा है। बता दें हाल ही में भारत ने अंतरिक्ष में एक मूविंग सैटेलाइट को मारने का सफल परीक्षण करके दुनिया में एक नया इतिहास रचा था। इस तरह के सफल परीक्षण को करने वाला भारत दुनियां का चौथा देश बन गया है।