+

एक अप्रैल से बैंक ऑफ बड़ौदा बन जायेगा भारत का तीसरा सबसे बड़ा बैंक

 बता दें कि जल्द ही देना बैंक और विजया बैंक का बैंक ऑफ बड़ौदा में विलय होने जा रहा है।  इस विलय के बाद बैंक ऑफ बड़ौदा भारत का तीसरा सबसे बड़ा बैंक बन जायेगा।  देश में जो पांच बड़े बैंक हैं जिनमें SBI Bank, HDFC Bank , ICICI  Bank, Punjab National Bank और Bank of Baroda  तीसरा शामिल हैं। देना बैंक और विजया बैंक का  बैंक ऑफ बड़ौदा के साथ विलय होने के बाद बैंक के पास कुल 9401 बैंक शाखाएं और कुल 13432 एटीएम हो जाएंगे। भारतीय स्टेट बैंक और आईसीआईसीआई बैंक के बाद देश का तीसरा सबसे बड़ा बैंक बन जाएगा। अभी तक एसबीआई 59,291 एटीएम और 18 हजार से ज्यादा शाखाएं के साथ नंबर एक पर हैं। वहीं आईसीआईसीआई बैंक 4,867 शाखाएं और 14,367 एटीएम के साथ नंबर दो पर हैं।

प्रतीकात्मक

 

इससे पहले भारत सरकार ने बैंक ऑफ बड़ौदा को  5,042 करोड़ रुपये देने का  फैसला किया है। बता दें इन तीनों बैंकों में पहले से ही सरकार की 70 फीसदी हिस्सेदारी है। विलय के समझौते के तहत विजया बैंक को 1000 शेयरों के बदले बैंक ऑफ बड़ौदा के 402 और देना बैंक को 1000 शेयरों के बदले बैंक ऑफ बड़ौदा के 110 शेयर दिए जाएंगे। इस विलय के बाद बैंक ऑफ़ बड़ोदा में काम करने बाले कर्मचारियों और अधिकारियों की संख्या 85 हज़ार के पार हो जाएगी और कुल कारोबार 14,82,422 करोड़ रुपये का हो जायेगा। इससे बड़े या मजबूत बैंक की अपेक्षा छोटे या कमजोर बैंक में काम करने वाले कर्मचारियों को फायदा होगा। उनकी न सिर्फ सेवा शर्तें बेहतर हो जाएंगी, बल्कि वेतन भत्ता भी बेहतर हो जाएगा।