+

होलिका दहन पर जलाया गया चीनी सामान, चीन ने भी दी प्रतिक्रिया

पिछले दिनों यूएन में आतंकी मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित कराने की भारत की कोशिश में चीन के अलावा सभी देशों ने भारत का साथ दिया था। चीन ने भारत की इस कोशिश पर लगातार चौथी बार टांग अड़ाकर मसूद अजहर को बचा दिया है। इस घटना के बाद से ही पूरे देश के लोगों में चीन के प्रति आक्रोश है। जगह-जगह चीनी सामान का विरोध हो रहा है। यहां तक की सोशल मीडिया पर भी #boycottchineseproducts ट्रेंड करने लगा है। 

प्रतीकात्मक

इसी को देखते हुए पूरे भारत में होलिका दहन के दौरान चीनी सामान को जलाया गया। झारखण्ड के जमशेदपुर जिले में कुछ व्यापारियों ने मोबाइल फोन, चीनी खिलौने, सीसीटीवी कैमरा, फुटवियर, कपड़ों और अनेक सामानों को जलाकर चीन के प्रति विरोध जताया। लोगों ने भी चीनी सामान को जलाकर होलिका दहन मनाया। इसी के साथ देश में जगह-जगह से चीन के सामान का विरोध करने की मांग उठ रही है। 

प्रतीकात्मक

चीन की प्रतिक्रिया

इसी बीच इस बात की जानकारी मिलने के बाद चीन का भी बयान सामने आया है। चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स की एक खबर में लिखा है कि भारतीयों को पसंद हो या नहीं उन्हें चीनी सामान का इस्तेमाल तो करना होगा। 

साथ ही ग्लोबल टाइम्स अखबार में लिखा है कि कुछ भारतीय विश्लेषक मेड इन चाइना सामान के बहिष्कार की बात कर रहे हैं। ट्विटर पर #boycottchineseproducts भी काफी लोकप्रिय रहा। लेकिन इतने सालों में ये बहिष्कार सफल नहीं हुआ। ये इसलिए क्योंकि भारत खुद सामान का उत्पादन नहीं कर सकता है।