+

भारत में चीनी समान पर बेन लगाने को लेकर उठने लगी मांग

संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद में चीन ने एक बार फिर भारत के प्रस्ताव में टांग अड़ाकर मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित होने से बचा लिया है। इसके साथ ही चीन ने भारत वाषियों के अंदर की देशभक्ति जगा दी है। 13 मार्च को चीन द्वारा आतंकी मसूद को  बचाने की खबर जैसे ही भारत पहुंची, तो भारत में सोशल मीडिया पर चीनी सामानों के बहिष्कार के लिए अपील शुरू हो गई। सोशल मीडिया पर #BoycottChineseProducts और #BoycottChina ट्रेंड करने लगा है। लेकिन क्या ये हो सकता है?

प्रतीकात्मक

 

दरअसल चीन भारत का सबसे बड़ा कारोबार सहयोगी है। सरकार द्वारा जारी किये गए आंकड़ों के मुताबिक, साल 2017-18 में भारत ने चीन को 13.4 अरब डॉलर (920 अरब रुपए) का निर्यात किया, जबकि चीन से 76.4 अरब डॉलर (5348 अरब रुपए) का आयात हुआ। वहीँ चीन से भारत के आयात में हर साल इजाफा हो रहा है। साल 2016-17 में 51.11 का आयात हुआ था। 

जानकारी के अनुसार शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के शिखर सम्मेलन में चीन और भारत की ओर से एक जारी बयान में कहा गया था कि साल 2020 तक दोनों देशों के बीच व्यापार को 100 अरब डॉलर तक पहुंचाने का प्रयास करेंगे। 

प्रतीकात्मक

 

चीन पर भारत निर्भर?

वहीँ एक्सपर्ट्स का कहना है कि भारत पावर और मेडिसन के लिए चीन पर काफी निर्भर है। भारतीय सोलर मार्केट भी चीनी प्रोडक्ट पर निर्भर है। भारत का थर्मल पावर भी चीनियों पर ही निर्भर हैं। पावर सेक्टर के करीब 70 से 80 फीसदी उत्पाद चीन से आते हैं। इसके अलावा भारत में दवाइयों के लिए कच्चा माल भी चीन से आता है। इस मामले में भी भारत पूरी तरह से चीन पर निर्भर है। 

प्रतीकात्मक

 

भारत के मुकाबले चीन 4 गुना बड़ी अर्थव्यवस्था

चीन 11.5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था है जबकि भारत की अर्थव्यवस्था 3 ट्रिलियन डॉलर की है। प्रोफ़ेसर दीपक कहते हैं कि चीन और जापान के बीच 300 बिलियन डॉलर का व्यापार है। दोनों में इस कदर दुश्मनी है फिर भी युद्ध नहीं होता है। इसकी वजह व्यापार का आकार है। इस मामले में भारत कहीं नहीं ठहरता है। साथ ही चीन का दुनिया के आर्थिक विकास में 33 फीसदी योगदान है। अमेरिका के साथ चीन का सालाना व्यापार 429 बिलियन डॉलर का है। ऐसे में भारत से चीन का 70 बिलियन डॉलर का व्यापार कहीं ठहरता नहीं है. अगर 11.5 ट्रिलियन डॉलर से भारत का छोटा हिस्सा निकल भी जाए तो चीन को कोई फर्क नहीं पड़ेगा।