+

आखिर 60 घंटे में ही पाक ने क्यों किया अभिनंदन को रिहा, अब हुआ खुलासा

27 फरवरी को भारतीय पायलट अभिनंदन को पाकिस्तान ने रिहा कर दिया था। असल में विंग पायलट अभिनंदन का एयर क्राफ्ट पाक सीमा में क्रैश हो गया था। वहां से उनको पाक आर्मी ने गिरफ्तार कर लिया था। गिरफ़्तारी के 60 घंटे बाद ही पाकिस्तान को अभिनंदन को छोड़ना पड़ा था। लेकिन इस बारे में अभी तक कोई नहीं जानता था कि आखिर ऐसा क्या हुआ कि अभिनंदन को महज 60 घंटे में ही छोड़ने को पाकिस्तान क्यों मजबूर हुआ था। हालही में इस बात का खुलासा हुआ है। असल में पायलट अभिनंदन को छोड़ने के लिए अमेरिका ने पाकिस्तान पर दबाव डाला था। इस कारण ही पाकिस्तान को पायलट अभिनन्दन को छोड़ना पड़ा था।

प्रतीकात्मक

 

भारतीय पायलट के लिए अमेरिका ने अपने उच्च-स्तरीय सैन्य चैनलों के माध्यम से पाक सेना से संपर्क किया था। उन्होंने यह कहा था कि पाक तथा भारत के बीच तनाव को कम करने का एकमात्र तरीका यह ही है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार यूएस सेंट्रल कमांड के कमांडर जनरल जोसेफ मोटल ने पाक सेना के जर्नल बाजवा से बातचीत की थी तथा पायलट अभिनंदन को रिहा करने के लिए कहा था। अमेरिका कि ओर से राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन तथा कमांडर जनरल जोसेफ ने जिम्मेदारी को संभाला था। अमेरिका के इस आदेश के बाद में यूनाइटेड किंगडम ने भी पायलट अभिनंदन को छोड़ने के लिए पाकिस्तान पर दबाव बनाया था। अमेरिका के चीफ ऑफ स्टाफ जनरल जोसेफ डनफोर्ड ने पाकिस्तान के जनरल जुबैर महमूद हयात से बातचीत की थी। इस प्रकार से यह स्पष्ट होता है कि भारतीय पायलट अभिनंदन को छोड़ने के लिए पाकिस्तान पर कई देशों का दबाव था इसी कारण मज़बूरी में पाक को अभिनंदन को छोड़ना पड़ा था।