+

भारत से कर्जा लेकर लंदन में क्यों छुप जाते हैं भगोड़े?

अक्सर देखा जाता है कि भारत के कुछ उद्योगपति और नामी लोग भारत से कर्जा लेकर इंग्लैंड भाग जाते हैं। इन लोगों में नीरव मोदी, विजय माल्या से लेकर मेहूल चोकसी और संगीतकार नदीम सैफ़ी जैसे कुछ प्रचलित नाम हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं, कि भारत के ये भगोड़े लंदन जाकर ही क्यों छुपते हैं?

प्रतीकात्मक

 

भारत के पूर्व विदेश सचिव और लंदन में भारत के उच्चायुक्त रहे सलमान हैदर ने इस सवाल का जवाब दिया। उन्होंने कहा, "लोग इसलिए भागकर लंदन जाते हैं क्योंकि भारत और ब्रिटेन का उपनिवेश रहा है और इस वजह से वहां की और यहां की क़ानूनी प्रणाली लगभग एक जैसी ही है। ब्रिटेन और भारत के क़ानूनी जानकार दोनों देशों के क़ानूनों को बहुत अच्छे से जानते हैं, जिससे भागकर गए शख़्स को इसका फायदा होता है।"

एक कारण ये भी..

इसके अलावा भगोड़ों का लंदन में शरण लेने का एक और कारण सामने आया है। दरअसल लंदन में बहुत से भारतवासी रहते हैं। लंदन में भारतीयों की संख्या इतनी है कि कुछ इलाक़े तो 'मिनी भारत' जैसे बन गए हैं। कई उद्योगपतियों और बड़े स्टार्स के यहां पर घर भी हैं। इसलिए यहां पर पहले से घर होने के कारण भी लंदन में भागकर आने में आसानी होती है। 

प्रतीकात्मक

 

पाकिस्तान में भी हैं कई भगोड़े

भगोड़ों का लंदन में जाकर छुपना सिर्फ भारत की ही परेशानी नहीं है। इस परेशानी से पड़ोसी देश पाकिस्तान भी अच्छी तरह वाकिफ है। यहां के लोग भी अक्सर भागने के बाद लंदन में छुप जाते हैं। इन लोगों में पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज़ मुशर्रफ़, पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़, बेनज़ीर भुट्टो के अलावा कई आमो-ख़ास लोगों के नाम शामिल हैं।