+

यासीन मलिक पर लगा PSA, दो साल तक रखा जा सकता है हिरासत में

जम्‍मू और कश्‍मीर लिबरेशन फ्रंट के प्रमुख यासीन मलिक को पब्‍लिक सेफ्टी एक्‍ट के तहत गिरफ्तार किया गया है. गिरफ्दारी के बाद यासीन मिलक को जम्‍मू -कश्‍मीर के भलवाल जेल में भेज दिया गया है। मिली सुचना के अनुसार- अलगाववादी नेता यासीन मलिक  को पीएसए के तहत दो साल तक हिरासत में रखा जा सकता है। 

प्रतीकात्मक

 

बताया जा रहा है कि जम्‍मू-कश्‍मीर में माहौल खराब करने के आरोप में यासीन मलिक के खिलाफ कोठी बाग पुलिस स्टेशन मामला दर्ज किया गया था। जम्‍मू और कश्‍मीर लिबरेशन फ्रंट के प्रवक्ता ने कहा कि हमारी पार्टी इस मनमानी गिरफ्तारी और एक राजनीतिक नेता के खिलाफ PSA के उपयोग की कड़ी निंदा करती हैं।