+

जम्मू बस स्टैंड पर ग्रेनेड हमले में हिजबुल का हाथ, हमलावर गिरफ्तार

गुरुवार को जम्मू बस स्टैंड पर खड़ी एक बस में ग्रेनेड हमले से करीब 30 लोग घायल और एक 17 साल के लड़के की मौत हो गई। इसके अलावा कुछ की हालत गंभीर भी बताई जा रही है। एक चश्मदीद का कहना है, ‘‘जिस समय धमाका हुआ, मुझे लगा कोई टायर फट गया है। यह बहुत तेज धमाका था।’’ इसके बाद पूरे इलाके को घेरकर सर्च ऑपरेशन चलाया गया। 

प्रतीकात्मक

 

पुलिस ने हमले से सम्बंधित कई संदिग्धों के साथ ग्रेनेड फेंकने वाले को भी गिरफ्तार किया। पुलिस ने बताया है कि इस आतंकी हमले के पीछे हिजबुल मुजाहिद्दीन का हाथ है। ग्रेनेड फेकने वाले आतंकी को गिरफ्तार कर लिया गया है। उसका नाम यासिर जावेद भट्ट है। आईजीपी एमके सिन्हा ने बताया कि ग्रेनेड बस के नीचे जाकर गिरा। यह ग्रेनेड हमला स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट कॉर्पोरेशन (एसआरटीसी) की बस पर हुआ है। बस पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई। बस का ड्राइवर और कंडक्टर भी गंभीर जख्मी हुए हैं। वहीँ मई 2018 के बाद से अब तक बस स्टैंड पर यह तीसरा ग्रेनेड हमला है। 

प्रतीकात्मक

 

सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में एक आतंकी को मारा

वहीँ गुरुवार को ही एक सर्च ऑपरेशन के दौरान हंदवाड़ा में सुरक्षाबल और आतंकियों के बीच हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने एक आतंकी को मार गिराया है। हंदवाड़ा और कुपवाड़ा में इंटरनेट सुविधा भी बंद कर दी गई है। इससे पहले मंगलवार को भी सुरक्षाबलों की आतंकियों के साथ मुठभेड़ हुई थी। जिसमें दो आतंकियों को मार गिराया था। यह दोनों हिजबुल मुजाहिदीन आतंकी संगठन से जुड़े हुए थे।