+

खेती-किसानी के लिए दें सिर्फ 3 डाक्यूमेंट, मिलेंगे 3 लाख रुपये

हालही में केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा है कि किसान क्रेडिट कार्ड के लिए किसानों को महज 3 डाक्यूमेंट देने होंगे। पहली बात यह है कि जो व्यक्ति क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन कर रहा है। वह किसान है अथवा नहीं इसके लिए बैंक पहले उसके खेती के कागजात देखे। दूसरे उसका निवास प्रमाण पत्र तथा तीसरा आवेदक का शपथ पत्र कि उसका किसी अन्य बैंक में कोई बकाया नहीं है। सरकार ने बैंकिंग एसोसिएशन से भी कहा है कि किसानों से किसान क्रेडिट कार्ड के लिए किसी प्रकार का शुल्क न लिया जाए। 

प्रतीकात्मक

 

मंत्री गजेंद्र सिंह ने यह भी कहा है कि किसान क्रेडिट कार्ड का कवरेज बढ़ाया जाए। देश में करीब 14 करोड़ किसान परिवार हैं ओर यह सिर्फ 50 प्रतिशत किसानों के पास ही है। ऐसा इसलिए है क्यों की किसान क्रेडिट कार्ड को बनवाने के लिए जटिल प्रक्रिया से गुजरना होता है। हमने राज्य सरकार तथा बैंकों से भी कहा गया है कि वे पंचायतों में कैंप लगाकर ग्रामीण लोगों के किसान क्रेडिट कार्ड बनवाएं। मंत्री गजेंद्र सिंह ने आगे कहा कि हमने किसान क्रेडिट कार्ड को सिर्फ खेती तक सीमित नहीं रखा है बल्कि हमने इसको मछली पालन तथा पशु पालन के लिए भी खोल दिया है। इन दोनों श्रेणियों को 2 लाख रुपये तथा खेती के लिए तीन लाख रुपये का लोन किसानों को मिलता है। दूसरी और केंद्र सरकार ने भी एलान किया है कि किसान सम्मान निधि योजना कि दूसरी क़िस्त अप्रैल में किसानों को दे दी जायेगी।