+

मॉक ड्रिल - कुंभ में हुआ धमाका और पकड़े गए आतंकी, सुरक्षा एजेंसियां मुस्तैद

कुंभ मेला 15 जनवरी से प्रारंभ। कुंभ के लिए सुरक्षा एजेंसियां बड़ी मुस्तैदी से तैनात हैं। सुरक्षा को लेकर कहीं कोई चूक न हो इसके लिए बीते शुक्रवार को एजेंसियों ने कुंभ परिसर में मॉक ड्रिल का आयोजन किया था। यह अब तक की सबसे बड़ी मॉक ड्रिल थी। सैलानियों तथा श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए अपनी तैयारियों को परखने के लिए इस मॉक ड्रिल का आयोजन किया गया था। इस ड्रिल में यूपी का एंटी टेरर स्क्वैड, भारतीय सेना, एनडीआरएफ, पैरामिलिट्री के जवान शामिल हुए थे। 

प्रतीकात्मक

मॉक ड्रिल के दौरान संगम घाट पर धमाका हुआ था। जिसमें कई श्रद्धालु घायल हो गए। धमाके के बाद सबसे पहले कमांड सेंटर में इसकी सुचना मिली तथा मेले में तैनात सिविल कमांडो तुरंत घटना स्थल पर लोगों को बचाने में जुट गए। धमाके की जानकारी होते ही यूपी पुलिस के जवान हथियारों से लैस होकर मंदिर परिसर के पास पहुचें तथा उस क्षेत्र को घेर लिया ताकी किसी आतंकी को भागने का स्थान न मिले। पुलिस के जवानों के साथ में एसडीआरएफ की टीम भी लोगों को बचाने में लग गई तथा घायल लोगों को स्ट्रेचर पर अस्पताल में तुरंत ले जाया गया। सीआईएसफ के जवानों  हथियारों से लैस होकर आतंकियों की घेराबंदी शुरू कर दी। कुछ ही समय में सीआईएसफ के लोगों ने पहले आतंकी को ढूंढ निकाला और उसने सरेंडर कर दिया। इसके बाद मंदिर क्षेत्र से दूसरे तथा तीसरे आतंकी को भी सीआईएसफ के जवानों ने पकड़ लिया। धमाके में घायल हुए लोगों को ग्रीन कॉरिडोर बनाकर अस्पताल में भेजा गया। कुल मिलाकर 15 जनवरी 2019 से प्रारंभ होने वाले कुंभ मेले की सुरक्षा के लिए एजेंसियों ने अपनी तैयारी को पूरा कर लिया है। मॉक ड्रिल के इस मौके पर आईजी मोहित अग्रवाल ने कहा की यहां आने वाले लोगों को सुरक्षा के साथ आस्था की डुबकी लगाने का मौका मिलेगा।