+

दिल्ली में सड़क पर बने गड्ढे ने ली एक मासूम बच्ची की जान

दिल्ली की सड़कों के गड्ढे लोगों के लिए परेशानी का सबब बने हुए हैं। पहले सड़कों के ये गड्ढे केवल जनजीवन को ही प्रभावित करते थे, लेकिन धीरे-धीरे अब ये गड्ढे जानलेवा साबित होने लगे हैं। इसका एक उदहारण देखा गया दिल्ली के द्वारका सेक्टर-16 में।

द्वारका सेक्टर-16 में सवारियों से भरा हुआ -रिक्शा बीच सड़क पर बने एक गड्ढे में फंसकर पलट गया। रिक्शा पलटा तो सड़क किनारे खेलती हुई एक 3 साल मासूम इकरा उसके चपेट में गयी। जिसके बाद वह गंभीर रूप से घायल हो गयी। मौके पर उपस्थित लोग इकरा को तुरंत पास के अस्पताल ले गए, जहां गंभीर चोट और बहुत खून बह जाने के कारण इकरा ने दम तोड़ दिया। पुलिस ने बच्ची के एक रिश्तेदार के बयान पर लापरवाही और गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज कर लिया है और इस मामले में -रिक्शा चालक अंकित को गिरफ्तार कर लिया है।

प्रतीकात्मक

सड़क पर गड्ढा और अतिक्रमण बना हादसे का कारण

इकरा के पिता मजीबुल रहमान परिवार के साथ द्वारका सेक्टर-14 में रहते हैं। इकरा उनकी इकलौती बेटी थी। शनिवार को वह न्यू आदर्श अपार्टमेंट में अपनी मौसी के घर आयी थी। हादसे के दौरान वह सड़क किनारे कुछ अन्य बच्चों के साथ खेल रही थी। उसी वक़्त वहां से एक रिक्शा गुजर रहा था। लेकिन सड़क के किनारे हो चुके अतिक्रमण से बचने के लिए चालाक रिक्शा उस जगह पर ले गया, जहां गड्ढा था। जिससे रिक्शे का टायर गड्ढे में फंस गया और सवारियों से भरा होने के कारण वह पलट गया। इसमें वहां पर दोस्तों के साथ खेल रही इकरा उसके चपेट में गयी। आस पास के लोगों ने -रिक्शे को हटाकर उसमें फंसे लोगों को उठाया। साथ ही इकरा को पास के हॉस्पिटल में ले जाकर पुलिस को भी सूचना दे दी। लेकिन वहां इलाज के दौरान ही इकरा ने दम तोड़ दिया।

कई बार की जा चुकी हैं शिकायतें

इकरा के मौसा मुश्ताक का कहना है कि वहां पर करीब 20 दुकानें अवैध तरीके से लगाई जाती हैं। इसके कारण सड़क बिलकुल छोटी हो गयी है। इसी वजह से यहां अक्सर हादसे होते रहते हैं और दक्षिणी दिल्ली नगर निगम को इस अतिक्रमण के बारे में कई बार शिकायतें भी की गयी हैं। इसके बावजूद भी इन पर कोई कार्यवाही नहीं होती, जिससे हादसों की संख्या बढ़ती जा रही है।