+

सीमा पर तैनाती के लिए 600 टैंक खरीद रहा है पाक

पाकिस्तान अपनी सीमा रेखा को मजबूत करने के लिए टैंक खरीदने की योजना बना रहा है। रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि पाकिस्तान सुरक्षा कारणों से 600 युद्धक टैंक खरीदने की तैयारी कर रहा है।

प्रतीकात्मक

 

सैन्य ख़ुफ़िया एजेंसी का कहना है कि इन टैंकों में रूस के टी-90 टैंक भी खरीदने की कवायद भी चल रही है। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि टेंकों के खरीदने का मकसद पाकिस्तान को अपनी सीमा सुरक्षा मजबूत करने का है। इनमें से ज्यादातर टैंक 3 से 4 किमी के लक्ष्य को बेधने में सक्षम हैं। ख़ुफ़िया एजेंसियों ने यह भी कहा गया है कि पाकिस्तान ज्यादातर टैंकों को जम्मू-कश्मीर तथा पाक सीमा पर लगाएगा। युद्धक टैंक के अलावा पाकिस्तान इटली से 150 एमएम की 245 एसपी माइक-10 भी खरीद रहा है। इनमें से पाकिस्तान अब तक 120 तोपे खरीद चुका है। रूस से भी पाकिस्तान कई टी-90 युद्धक टैंक खरीदने का विचार भी कर रहा है जो कि थल सेना का मुख्य आधार मानें जाते हैं। 

प्रतीकात्मक

 

पाकिस्तान ने पिछले कुछ वर्षों में रूस के साथ में संयुक्त सैन्य अभ्यास भी किये हैं। इसके अलावा रूस से पाकिस्तान ने रक्षा खरीद भी की है। पाकिस्तान के रूस के साथ यह कार्य मजबूत संबंध बनाने की और इशारा करता है। पाकिस्तान ने अपनी बख्तरबंद कोर को मजबूत करने का यह कार्य ऐसे समय में शुरू किया है। जब जम्मू-कश्मीर तथा पाक सीमा पर पिछले एक साल से शत्रुता बढ़ती नजर आ रही है। वहीँ भारत की बख्तरबंद रेजीमेंटों में टी-90, टी-72 और अर्जुन टैंक मुख्य रूप से शामिल हैं। इस कारण से ही सीमा के मामले में भारत पाकिस्तान से कहीं ज्यादा ऊंचाई रखता है लेकिन कहा जा रहा है की अब पाकिस्तान दोनों देशों के बीच की इस खाई को पाटने के चक्कर में है।