+

CBSC की परीक्षा डेटशीट पर छात्रों ने जताई आपत्ति

प्रतीकात्मक

सीबीएसई ने छात्रों की परीक्षा डेटशीट 23 दिसंबर को प्रकाशित कर दी थी। इस डेटशीट को लेकर न सिर्फ छात्रों ने बल्कि अभिभावकों तथा स्कूल के टीचरों ने भी आपत्ति जताई है। छात्रों का इस बारे में कहना है कि महत्वपूर्ण विषयों के प्रश्नपत्रों की डेट लगातार रखी गई है। इस कारण उनके लिए तैयारी करने का समय नहीं मिल पायेगा। इस बारे में एक निजी स्कूल के प्रिंसिपल ने भी अपने विचार रखें हैं। इनका कहना है कि "मार्च माह के अंत में सभी महत्वपूर्ण विषयों के प्रश्नपत्र रख दिए गए हैं।

इन विषयों को ज्यादातर छात्र छात्रा लेते या फिर अपने कॉम्बिनेशन में रखते हैं। इसके अलावा 27, 28, 29 और 30 मार्च को लगातार इकोनामिक्स, कंप्यूटर साइंस, साइकॉलोजी व फिजिकल एजुकेशन के प्रश्नपत्र रख दिए गए हैं। दूसरी और 18 व 19 मार्च को गणित और राजनीति विज्ञान के प्रश्नपत्र रख दिए गए हैं।" ह्यूमिनिटीज से इस वर्ष परीक्षा दे रहें एक छात्र का कहना है कि इस विषय के छात्रों को गणित की तैयारी के लिए समय नहीं मिलगा।

प्रतीकात्मक

इस सारे प्रकरण में सीबीएसई के एक अधिकारी का कहना है कि "कई सब्जेक्ट के कॉम्बिनेशन हैं तथा छात्रों की संख्या तथा विषयों को देख कर ही डेटशीट का निर्माण किया गया है।" इस बारे में ऑल इंडिया पैरेंट्स एसोसिएशन के अध्यक्ष अशोक अग्रवाल ने भी अपने विचार रखे हैं, उनका कहनाहै कि "छात्रों की समस्या तथा परेशानी को देखते हुए सीबीएसई को संज्ञान लेना चाहिए तथा हम सभी सीबीएसई से छात्रों के हित में बदलाव करने का अनुरोध करते हैं।"