+

दिल्ली में जहरीली हुई हवा, एम्स में 20 फीसदी बढ़े मरीज

प्रतीकात्मक

दिल्ली में प्रदुषण का स्तर जिस प्रकार से लगातार बढ़ रहा है। वह लोगों के लिए बहुत खतरनाक हैं। दिल्ली की जहरीली हवा का असर अब यहां के लोगों के स्वास्थ्य पर भी दिखाई देने लगा है। दिल्ली के एम्स में इस कारण ही 20 फीसदी मरीजों की वृद्धि हो चुकी है। यह बात एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया ने कही है। डाक्टरों का कहना है कि "इस प्रकार के मौसम में न सिर्फ सर्दी से बचना चाहिए बल्कि प्रदुषण से भी बचना जरुरी है। प्रदुषण का असर बच्चों, बुजुर्ग लोगों, गर्भवती महिलाओं तथा सांस के मरीजो पर काफी खतरनाक होता है। ऐसे में एम्स अस्पताल दिल्ली में 20 फीसदी मरीजों की संख्या बढ़ी है।" डॉ. रणदीप गुलेरिया का कहना है की "यदि आप घर से बाहर निकलते हैं तो बाहर प्रदुषण के स्तर को जरूर पता कर लें। ज्यादा प्रदुषण वाले इलाकों में जाने से परहेज करना चाहिए। प्रदुषण के कारण ही ओपीडी और इमरजेंसी में 15-20% तक मरीजों की संख्या बढ़ी है। वर्तमान में शरीर पर पड़ रहे प्रदुषण के दुष्प्रभाव का सर्वे चल रहा है। जिसकी रिपोर्ट मार्च तक आ सकती है। दिल्ली के एम्स के अलावा यहां के बड़े अस्पतालों में भी मरीजों की संख्या बढ़ी है। दिल्ली के लोकनायक अस्पताल में मरीजों की करीब 30 प्रतिशत संख्या बढ़ी है।"

सिर्फ बचाव ही है उपाय

प्रतीकात्मक

दिल्ली के बड़े अस्पतालों के डाक्टरों का कहना है कि प्रदुषण के दुष्प्रभाव से बचने के लिए इससे बचाव ही एक अच्छा उपाय है। सफदरजंग अस्पताल के डॉ. जुगल किशोर का कहना है कि "इस समय दिल्ली में प्रदुषण का स्तर काफी ज्यादा है। अतः लोगों को घर के अंदर भी चैन नहीं मिल पा रहा है। इसके दुष्प्रभावों से बचने के लिए अपने मुंह, कान तथा सर को कपड़े से ढकना चाहिए।" दिल्ली-एनसीआर की हवा में प्रदुषण का स्तर पीएम2.5 और पीएम10 की मात्रा 266 और 405 था। सीरी फोर्ट में यह 436 और 424 रहा।

प्रतीकात्मक

दिल्ली के आनंद बिहार इलाके में प्रदुषण का स्तर सबसे अधिक पाया गया है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने प्रदुषण के लिए दिल्ली सीएम पर निशाना साधते हुए कहा है कि "दिल्ली में पॉल्यूशन का स्तर काफी ज्यादा है लेकिन केजरीवाल जी को इस बात की चिंता ही नहीं है। वे सिर्फ प्रदुषण के मुद्दे पर राजनीति करते हैं। उनको चाहिए की वे प्रदुषण के मुद्दे पर विशेष सत्र तथा सर्वदलीय बैठक को बुलाए।" कुल मिलाकर दिल्ली में प्रदुषण का स्तर बहुत ज्यादा बढ़ रहा है। इससे बचने के लिए सभी लोगों को अपने स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता है।