+

पत्रकार पर प्रतिबंध लगाने पर ट्रम्प प्रशासन पर हुआ मुकदमा

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प आए दिन किसी न किसी वजह से विवाद में घिर ही जाते हैं। उनकी चर्चा उनके कामकाज के बजाया अटपटे कारनामें की वजह से होती रहती है, जो अक्सर विवाद का रूप ले लेती है। अब नया मामला सीएनएन के पत्रकार पर प्रतिबंध का सामने आया है। इस संबंध में केबल न्यूज़ नेटवर्क (सीएनएन) ने व्हाइट हाउस की ओर से अपने वरिष्ठ पत्रकार जिम एकोस्टा की मान्यता रद्द किए जाने के मामले में ट्रंप प्रशासन के ख़िलाफ मुकदमा दायर कर दिया है।

जिम एकोस्टा व्हाइट हाउस में सीएनएन के मुख्य संवाददाता थे। पिछले दिनों उन्होंने डोनल्ड ट्रम्प से ऐसा सवाल पूछ लिया कि वे तिलमिला गए और उनसे बहस कर बैठे। पत्रकार पर उनकी नारजगी का नतीजा यह हुआ कि जिम एकोस्टा से 'प्रेस हार्ड पास' वापस ले लिया गया।

यह बात किसी को हजम नहीं हुई और सीएनएन ने सीधे तौर पर  लगाया ये एकोस्टा के संवैधानिक अधिकारों का उल्लंघन है। इसके साथ ही 13 नवंबर को इस संबंध में ट्रम्प प्रशासन के खिलाफ एक मुकदमा दायर कर दिया। वाशिंगटन में दायर किए गए इस मुकदमे में  राष्ट्रपति ट्रंप और उनके दूसरे सहयोगियों को प्रतिवादी बनाया गया है।

 जिम एकोस्टा सीएनएन के करीब 50 हार्ड पास धारकों में से एक हैं।  उनके साथ घटित घटना  सात नवंबर की है। प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान डोनल्ड ट्रंप और एकोस्टा के बीच कुछ सवालों को लेकर बहस हो गई थी। एकोस्टा अमरीकी राष्ट्रपति से मेक्सिको के शरणार्थियों और मेक्सिको से अमरीका की ओर बढ़ रहे प्रवासियों के एक काफ़िले के बारे में सवाल करना चाहते थे। लेकिन इस सवाल के बीच में ही ट्रंप के दफ़्तर में तैनात एक महिलाकर्मी ने पत्रकार के हाथ से माइक झपटने की कोशिश की।

इस दौरान अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प ने भी ये कहना शुरू कर दिया कि "बहुत हुआ, बहुत हुआ... बस करिए"। ट्रम्प ने जिम एकोस्टा को माइक नीचे रखने के लिए भी कहा।