+

छठ पूजा के अवसर पर दिल्ली सरकार का विशेष तोफा

 बिहार और उत्तर प्रदेश समेत देश भर में मनाई जाने वाली लोक आस्था के महान और महत्वपूर्ण पर्व छठ के मुख्य दिन इस साल दिल्ली सरकार ने गजटेड छुट्टी की घोषणा कर दी है। इस अनुसार दिल्ली सरकार के सभी सरकारी दफ्तर और स्कूल—कालेज 13 नवंबर को बंद रहेंगे।

राजधानी दिल्ली में छठ पर्व मनाने वालो की संख्या काफी है और इस मौके पर सभी का अपने गृह प्रदेश जाना असंभव है। कुल चार दिनों में संपन्न होने वाले इस पर्व को लोग सूर्य पूजा के रूप में आस्था और विश्वास के साथ मनाते हैं।

छठ के मौके पर पूरी दिल्ली छठ व्रतियों से पट जाती है, जिसकी तैयारियों में एक सप्ताह पहले से ही घर—परिवार के लोगों के अलावा सरकारी महकमा जुट जाता है। परिवार के सदस्य जहां पूजा से संबंधित सामग्रियां जुटाने और दूसरी तैयारियों में लगे रहते हैं, वहीं सरकार की जिम्मेदारी बनती है कि वे इसे शांतिपूर्ण और सुखद महौल में संपन्न करवाने की हर संभव कोशिश करे।

इस पर्व को घर में परिवार, रिश्तेदार और दोस्तों के बीच से लेकर सार्वजनिक स्थानों पर नदी के किनारे किया जाता है। इसके अंतिम दो दिन अस्त होते और उदित होते सूर्य को फल—फूल के प्रसाद और जल—दूध से अर्ध्य दिया जाता है। लोग बड़ी संख्या में नदी, नहर या तालावों के घाटों की पर जाते हैंं। इस कारण यातायात के विशेष प्रबंध किए जाते हैं। पर्व करने वालों की सहुलियतों के लिए नदी के घाटों को सफाई के साथ—साथ सजाया—संवारा जाता है। इसकी जिम्मेदारी स्थानीय लोगों के अतिरिक्त प्रशासन पर होती है। यह तैयारी दिल्ली में यमुना नदी के किनारे विभिन्न घाटों पर की गई है। साथ ही कई जगह जनप्रतिनिधियों के सहयोग से कृत्रिम तालाव भी बनाए गए हैं।

इसे देखते हुए दिल्ली यातायात पुलिस ने छठ पूजा के मौके पर 13 और 14 नवंबर को विशेष यातायात इंतजाम और पाबंदियों के बारे में एक दिन पहले ही एक परामर्श जारी कर चुकी है। पुलिस ने यात्रियों को बाहरी रिंगरोड पर मुकरबा चौक से चंदगी राम अखाड़ा, वजीराबाद पुल, आईएसबीटी कश्मीरी गेट के आसपास की सड़कों, पुश्ता रोड (खजूरी खास/शास्त्री पार्क), कालिंदी कुंज पुल (दोनों तरफ से) समेत कुछ सड़कों पर यात्रा करने से बचने की सलाह दी है।

परामर्श के अनुसार यमुना नदी के बड़े घाटों, भलस्वा झील और हैदरपुर नहर जैसे जलाशयों के आसपास की सड़कें सामान्य यातायात के प्रभावित हो सकती हैं। हालांकि, नई दिल्ली रेलवे स्टेशन, पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन, निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन और आईएसबीटी के आसपास के क्षेत्रों में यातायात पाबंदियां नहीं की गई हैं।

परामर्श के मुताबिक लोगों को सड़कों पर भीड़भाड़ कम करने में मदद पहुंचाने के लिए दिल्ली मेट्रो जैसे सार्वजनिक परिवहन का उपयोग करने का अनुरोध किया गया है।

भगवान सूर्य को समर्पित छठ पूजा कार्तिक महीने के छठे दिन मनाया जाता है। इस मौके पर पहले दिन डूबते सूर्य और अगले दिन उगते सूर्य को अर्घ्य दिया जाता है। इस साल 13-14 नवंबर को छठ पूजा है।