+

देश के इस मंदिर में प्रवेश करते ही पुरुष बन जाते हैं महिला

आपने अभी तक महिलाओं को ही साज श्रृंगार करते देखा होगा लेकिन यदि पुरुष भी ऐसा ही करने लगें तो हर कोई हैरान रह जायेगा। आपने भारत में बहुत से मंदिर देखें ही होंगे लेकिन क्या आप जानते हैं कि हमारे यहां एक ऐसा भी मंदिर है। जिसमें पुरुष 16 श्रृंगार करके पूजन आदि कार्य करते हैं। आज हम आपको एक ऐसे ही मंदिर के बारे में यहां जानकारी दे रहें हैं। लोगों का मानना है कि इस मंदिर में खासकर पुरुषो की मन्नतें पूरी होती हैं। इस मंदिर में सभी पुरुष अपनी 2 ख़ास मन्नतें लेकर आते हैं। पुरुषों की ये मन्नतें होती हैं सुंदर पत्नी और अच्छी नौकरी के लिए। आइये अब आपको विस्तार से बताते हैं के बारे में। 

महिलाओं की तरह श्रृंगार करते हैं लोग

 

महिलाओं की तरह श्रृंगार कर पुरुष जिस मंदिर में जाते हैं उसका नाम है "श्री देवी मंदिर", यह मंदिर भारत के केरल में स्थित है। इस मंदिर में पुरुष अच्छी नौकरी तथा सुंदर पत्नी की मन्नत लेकर बड़ी संख्या में आते हैं। लेकिन पुरुष लोगों को यहां प्रवेश करने के लिए महिलाओं कि तरह श्रृंगार करना होता है साथ ही उनको स्त्रियों वाले कपड़े भी पहनने होते हैं। माना जाता है कि इस प्रकार श्रृंगार करने तथा महिलाओं का पहनवा पहनने के बाद ही पुरुषों की मन्नत पूरी होती है। 

आखिर क्यों पुरुष करते हैं महिलाओं की तरह श्रृंगार

 

मंदिर के आसपास के लोग कहते हैं कि इस स्थान पर देवी की प्रतिमा स्वयं ही प्रकट हुई थी। इस प्रतिमा को कुछ चरवाहों ने देखा था। इन लोगों ने ही देवी की प्रतिमा का पूजन स्त्रियों के कपडे पहनकर सबसे पहले किया था। इसके बाद यहां आने वाले हर पुरुष को महिलाओं के कपड़ों में ही प्रवेश दिया जाता है। महिलाएं भी इस मंदिर में प्रवेश कर सकती हैं। आपको बता दें की प्रत्येक वर्ष 23 और 24 मार्च को इस मंदिर में "चाम्याविलक्कू उत्सव" मनाया जाता है। इस उत्सव में महिलाओं का श्रृंगार करने वाले पुरुषों को ही प्रवेश दिया जाता है। इस प्रकार की खास पूजा करने के लिए यह मंदिर काफी प्रसिद्ध है। बड़ी संख्या में यहां लोग महिलाओं कि तरह श्रृंगार कर पूजन करते हैं।