+

गुजरात हाईकोर्ट से कांग्रेस को बड़ा झटका, हार्दिक पटेल नहीं लड़ सकेंगे लोकसभा चुनाव

गुजरात में पाटीदार आंदोलन के बाद कांग्रेस में शामिल हुए नेता हार्दिक पटेल आगामी लोकसभा चुनाव नहीं लड़ पाएंगे। गुजरात हाईकोर्ट ने हार्दिक पटेल की सजा पर रोक लगाने वाली याचिका खारिज करते हुए यह फैसला सुनाया है। हार्दिक को मेहसाणा के विसनगर में दंगा भड़काने के मामले में निचली अदालत ने 2 साल की सजा सुनाई थी, लेकिन बाद में उन्हें कोर्ट ने जमानत दे दी थी। 

प्रतीकात्मक

जाहिर तौर पर कोर्ट में सजा पर रोक लगाने वाली यह याचिका इसलिए दायर की गई थी, ताकि हार्दिक पटेल लोक सभा चुनाव लड़ सकें। लेकिन हाई कोर्ट ने यह याचिका खारिज कर दी है। जिसके बाद कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल आगामी लोकसभा चुनाव नहीं लड़ सकेंगे। वहीँ खबर आ रही थी यदि कोर्ट से हार्दिक पटेल को चुनाव लड़ने की इजाजत मिली तो वह गुजरात की जामनगर सीट से चुनाव लड़ेंगे। 

क्या है सजा का मामला?

प्रतीकात्मक

दरअसल साल 2015 में बीजेपी विधायक ऋषिकेश पटेल के दफ्तर पर हमला हुआ था। जिसमें भारी तोड़फोड़ का मामला सामने आया था। इस मामले में हार्दिक पटेल और कई अन्य नेताओं का नाम सामने आया। केस चला तो मेहसाणा की विसनगर कोर्ट ने हार्दिक पटेल समेत 2 अन्य नेताओं को दोषी ठहराया और 17 आरोपियों को बरी कर दिया गया। हार्दिक पटेल को मामले में विसनगर कोर्ट ने दोषी ठहराते हुए 2 साल की जेल की सजा सुनाई है।