+

दिल्ली में दो गुटों में बंटी कांग्रेस, AAP से गठबंधन पर आखिरी फैसला आज

2019 के लोकसभा चुनाव के माहौल में राजनीतिक गठबंधन फिर से सुर्खियों में छा गया है। राजधानी दिल्ली में गठबंधन को लेकर चल रही रस्साकस्सी एक बार फिर अपने जोर पर पहुंच गई है। दरअसल, दिल्ली में आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन को लेकर कांग्रेस का एक बड़ा हिस्सा तैयार है, जबकि कई बड़े कांग्रेसी नेता इसका विरोध भी कर रहे हैं। वहीँ अंदाजा लगाया जा रहा है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी दिल्ली में गठबंधन पर आज आखिरी फैसला ले सकते हैं।

प्रतीकात्मक

दरअसल, सोमवार को राहुल गांधी की अध्यक्षता में हुई कांग्रेस नेताओं की बैठक में कुछ स्थानीय नेताओं ने आप के साथ गठबंधन पर अपनी सहमति जताई। इन नेताओं में दिल्ली कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अजय माकन का नाम सबसे आगे है। वहीँ वर्तमान दिल्ली कांग्रेस की अध्यक्ष शीला अध्यक्ष अब भी इसका विरोध कर रही हैं।

प्रतीकात्मक

दिल्ली में आम आदमी पार्टी से गठबंधन को समर्थन करने वाले कांग्रेसी नेताओं में प्रभारी पीसी चाको, सह प्रभारी कुलजीत नागरा, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन, अरविंदर सिंह लवली, सुभाष चोपड़ा और ताजदार बाबर हैं। तो वहीँ प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित, कार्यकारी अध्यक्ष हारून युसुफ, राजेश लिलोठिया, देवेंद्र यादव, जेपी अग्रवाल और योगानंद शास्त्री आप के साथ गठबंधन का विरोध कर रहे हैं। बैठक के दौरान दिल्ली कांग्रेस के सभी नेताओं ने अपना राहुल गांधी को अपना सौंप दिया है। जिस पर राहुल गांधी आज शाम को अपना फैसला सुना सकते हैं।