+

गोवा में कांग्रेस की चाल नाकामयाब, प्रमोद सावंत ने रात 2 बजे ली मुख्यमंत्री की शपथ

17 मार्च की शाम को देश के पूर्व रक्षा मंत्री और गोवा के सीएम मनोहर पर्रिकर जी का लम्बे समय से पैनक्रियाटिक कैंसर से जूझने के बाद देहांत हुआ। गोवा में बीजेपी की गठबंधन सरकार है, इसलिए सीएम पर्रिकर के निधन के बाद गोवा में बीजेपी के सरकार बनाने पर भी खतरा मंडराने लग गया था। इस दौरान कांग्रेस भी सरकार बनाने का दावा पेश करने लगी थी। लेकिन लम्बी माथापच्ची के बाद बीजेपी ने ही गोवा में सरकार बनाई, जिसमें गोवा की कमान विधानसभा स्पीकर प्रमोद सावंत को सौंपी गई। 

प्रतीकात्मक

 

बीती 19 मार्च की रात 1 बजकर 50 मिनट पर प्रमोद सावंत का मुख्यमंत्री पद के लिए शपथग्रहण गोवा के राजभवन में हुआ। इसके बाद गोवा के नवनियुक्त मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने कहा कि मुझे सभी सहयोगियों के साथ एक स्थिरता के साथ आगे बढ़ना है। अधूरे कामों को पूरा करना मेरी जिम्मेदारी होगी। साथ ही उन्होंने कहा कि मैं मनोहर पर्रिकर जी के जितना काम तो नहीं कर पाऊंगा, लेकिन जितना संभव हो सके काम करने की कोशिश करूँगा। 

प्रतीकात्मक

 

बता दें कि इससे पहले सावंत गोवा विधानसभा के स्पीकर थे। वहीँ अब सावंत के सीएम बनने पर उनके साथ विजय सरदेसाई और सुधीन धवलीकर को डिप्टी सीएम का कार्यभार दिया गया है। आपको ये भी बता दें कि विजय सरदेसाई और सुधीन धवलीकर गोवा में भाजपा की सहयोगी पार्टियों गोवा फारवर्ड पार्टी (जीएफपी) और महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी (एमजीपी) से विधायक हैं। इसके साथ ही भाजपा ने गोवा में कांग्रेस की उम्मीदों पर भी पानी फेर दिया है।