+

विधायक पर जूते मारने वाले सांसद को 2018 में मिल चुका है बेस्ट सांसद का अवार्ड

बुधवार को यूपी के संतकबीर नगर में जिला कार्ययोजना समिति की बैठक में बीजेपी के ही दो नेताओं में जूतों से लड़ाई हो गई। योगी सरकार में मंत्री आशुतोष टंडन की अगुआई में हुई इस बैठक में भाजपा विधायक राकेश सिंह बघेल और सांसद शरद त्रिपाठी के बीच विवाद हो गया था। यह विवाद शिलापट पर नाम न होने को लेकर हुआ था। बैठक में हुई इस जूतेमारी के दौरान पीछे खड़े लोग हंस रहे थे, जबकि अधिकारी दूर खड़े थे। इस पूरी घटना का वीडियो भी खूब वायरल हो रहा है।

प्रतीकात्मक

 

आपको बता दें कि अपनी ही पार्टी के विधायक के सिर में जूते मारने वाले बीजेपी सांसद शरद त्रिपाठी बेस्ट सांसद का अवार्ड जीत चुके हैं। शरद त्रिपाठी देश के उन 25 सांसदों में से एक हैं, जिन्होंने फेम इंडिया श्रेष्ठ सांसद पुरस्कार-2018 के उम्मीद श्रेणी में पहला स्थान हासिल किया था। बीते साल मार्च में दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित कार्यक्रम में उन्हें पुरस्कृत भी किया गया था। वहीँ घटना के बाद सांसद शरद त्रिपाठी ने बैठक में हुई मारपीट की इस पूरी घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताया था। उन्होंने कहा कि ये घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्हें बेस्ट सांसद का अवॉर्ड मिल चुका है। उनकी ऐसी छवि नहीं रही है। वह प्रदेश अध्यक्ष के सामने पक्ष रखेंगे। वहीं, विधायक राकेश सिंह ने भी कहा कि वे प्रदेश नेतृत्व के सामने पूरी बात रखेंगे।