+

भाजपा से आजाद हुए कीर्ति को कांग्रेस ने किया कैच

पिछले काफी लम्बे समय से अपनी ही पार्टी भाजपा के साथ बगावत कर रहे संसद कीर्ति आजाद ने अंततः कांग्रेस का दामन धाम लिया। बता दें सासंद कीर्ति आजाद को चार साल पहले पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते भारतीय जनता पार्टी ने उन्हें निलंबित कर दिया गया था। सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पारंपरिक मैथिली पाग पहनाकर कीर्ति आजाद को पार्टी में शामिल किया। पिछले हफ्ते ही आजाद का कांग्रेस में शामिल होने का प्लान था लेकिन पुलवामा में आत्मघाती आतंकी हमले की वजह से टालना पड़ा। 

प्रतीकात्मक

 

भाजपा से निलंबन होने के बाद आजाद ने बताया था क़ी उनका निलंबन अरुण जेटली से उलझने की वजह से हुआ है। उस वक्त उन्होंने कहा था कि वह इस बात से खुश हैं कि उनके भ्रष्टाचार से लड़ने के खिलाफ भारतीय जनता पार्टी का वास्तविक चेहरा सामने आया है। भारतीय जनता पार्टी से निलंबित होते ही कांग्रेस ने कीर्ति आजाद को पार्टी में शामिल होने का न्यौता दे दिया था

प्रतीकात्मक

 

क्रिकेट मैदान से राजनीती में आये 60 साल के  कीर्ति आजाद का जन्म बिहार के पूर्णिया जिले में हुआ। 2 जनवरी 1959 को पैदा हुए कीर्ति आजाद के पिता भागवत झा बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री थे। पिता से ही कीर्ति को राजनीतिक विरासत मिली। मैथिल परिवार में जन्मे कीर्ति ने दिल्ली के सेंट स्टीफन कॉलेज से इतिहास की पढ़ाई की और दिल्ली की तरफ से रणजी ट्रॉफी खेला। साल 1983 में जब भारत पहली बार वर्ल्ड कप जीता कीर्ति आजाद को भी लोकप्रियता मिली। वह उस वक्त भारतीय क्रिकेट टीम के सदस्य थे और पाकिस्तान और इंग्लैंड के खिलाफ अपनी आक्रामक पारी के चलते उन्होंने काफी वाहवाही बटोरी।