+

अमित शाह की रथ यात्रा को कोलकाता हाईकोर्ट ने दी मंजूरी

प्रतीकात्मक

कोलकाता हाईकोर्ट से आये फैसले ने भाजपाई लोगों में ख़ुशी की लहर दौड़ा दी। असल में कोर्ट ने अमित शाह को बंगाल में रथ यात्रा निकालने के लिए अनुमति दे दी है। बता दें की अमित शाह की रथ यात्रा को राज्य सरकार ने अनुमति नहीं दी थी जिसके बाद में बीजेपी ने कोलकाता हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। इसके बाद भी कोर्ट की सिंगल बेंच ने बीजेपी की अर्जी को ठुकरा दिया था। इस घटना के बाद में बीजेपी ने बड़ी बेंच में अर्जी लगाईं थी। जिसको पास कर कोलकाता हाईकोर्ट ने बीजेपी को रथ यात्रा की अनुमति दे दी है। आपको बता दें की यह रथ यात्रा देश के 24 राज्यों से गुजरेगी। 

40 दिन में 294 विधानसभा क्षेत्रों से गुजरेगी रथ यात्रा -  

प्रतीकात्मक

आपको बता दें कि बंगाल की राज्य सरकार ने बीजेपी के यात्रा संबंधी पत्रों का कोई उत्तर नहीं दिया था। इस कारण पिछली सुनवाई में कोर्ट की और से कोलकाता सरकार को फटकार लगाईं गई थी। जिसके जवाब में राज्य सरकार ने यह कहा था कि "बीजेपी की रथ यात्रा से राज्य में साम्प्रदायिक तनाव पैदा हो सकता है।" अब बीजेपी की योजना यह है कि 40 दिन में 294 विधानसभा क्षेत्रों को रथ यात्रा के जरिये कवर किया जाए। यह रथ यात्रा 7 दिसंबर को बिहार से 9 दिसंबर को दक्षिण 24 परगना के काकद्वीप से और 14 दिसंबर को तारापीठ से रवाना करने का बीजेपी विचार कर रही है। हाईकोर्ट के फैसले के बाद में बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने कहा "हम लोह कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हैं और यह तमाचा निरंकुशता के मुंह पर तमाचा है।"