+

ब्रिटेन को पछाड़कर दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन सकता है भारत

भारत की तेज बढ़ती विकास दर की बदौलत भारत इसी साल विश्व की बड़ी अर्थव्यवस्था वाली सूची में ब्रिटेन को पछाड़कर पांचवें स्थान पर पहुंच सकता है। 

प्रतीकात्मक

 

वैश्विक कंसल्टेंसी फर्म प्राइसवाटरहाउस कूपर्स (पीडब्ल्यूसी) की हालिया जारी हुई रिपोर्ट के अनुसार - भारत की जीडीपी काफी तेजी गति से आगे बढ़ रही है जिससे वह वर्ष 2019 में ही ब्रिटेन को पीछे छोड़ देश की पांचवीं बड़ी अर्थव्यवस्था वाला देश बन सकता है। ब्रिटेन और फ्रांस समान विकास दर और जनसंख्या होने के कारण इस सूची में आगे-पीछे होते रहते हैं लेकिन भारत आगे निकला तो उसकी जगह स्थायी हो जाएगी, क्योंकि बड़ी जनसंख्या और प्रति व्यक्ति आय का निचला स्तर होने के कारण उसके तेजी पकड़ने की संभावना अधिक है।

रिपोर्ट के अनुसार - भारत और ब्रिटेन की विकास दर में बड़ा अंतर है। वर्ष 2019 में ब्रिटेन की जीडीपी 1.6 फीसदी, फ्रांस की 1.7 फीसदी जबकि भारत की 7.6 फीसदी रहने की आशा है । PWC का कहना है कि अगर कोई बड़ा वैश्विक कारक या कच्चे तेल में बड़ा उछाल नहीं आता तो वित्त वर्ष 2019-20 में भारत की विकास दर 7.6 फीसदी रहेगी।

प्रतीकात्मक

 

 विश्व बैंक द्वारा वर्ष 2017 में जारी किये गए आंकड़ों के अनुसार , छठे नंबर पर काबिज भारत की जीडीपी 183.85 लाख करोड़ रुपये है जबकि पांचवें नंबर पर स्थित ब्रिटेन की जीडीपी उससे सिर्फ 2.17 लाख करोड़ रुपये अधिक है। फ्रांस जिसकी जीडीपी 183.18 लाख करोड़ रुपये है, उसे भारत ने 2017 में छठे से खिसकाकर सातवें स्थान पर कर दिया है।

दरसल,  फ्रांस और ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था में कोई खास बड़ा अंतर नहीं रहता है लेकिन वर्ष 2018 और फिर 2019 में ब्रिटेन में  ब्रिग्जिट जैसी प्रक्रिया से आई उथल-पुथल की वजह से स्थिति फ्रांस के लिए ज्यादा बेहतर है। इतना ही नहीं पाउंड के मुकाबले यूरो में आई मजबूती से भी फ्रांस इस सूची में ब्रिटेन को पछाड़कर छठे स्थान पर आ सकता है। 

प्रतीकात्मक

 

देश                 जीडीपी (लाख करोड़ रुपये)

अमेरिका            1376

चीन                    868

जापान                345

जर्मनी                260