+

सिर्फ 5 मिनट में जानें, कहीं आपकी किडनी खराब तो नहीं?

किडनी हमारे शरीर के उन अंगों में से एक है, जो जीवित रहने और स्वस्थ शरीर के लिए सबसे अहम हैं। फिर भी पिछले कुछ सालों से किडनी से जुड़ी बीमारियों से मरने वालों की संख्या में काफी बढ़ोत्तरी हुई है। दरअसल लोग किडनी की परेशानी को आसानी से समझ नहीं पाते हैं। शुरुवात में लोगों को किडनी के खराबी का पता नहीं चलता और तब डॉक्टर्स के पास जाते हैं जब परेशानी बहुत बढ़ जाती है। इसीलिए नियमित हेल्थ चेकअप के साथ-साथ किडनी टेस्ट कराना भी जरूरी है। लेकिन बता दें कि आप घर बैठे भी कुछ ही मिनट में अपनी किडनी का टेस्ट कर सकते हैं। 

प्रतीकात्मक

 

आयुर्वेदिक तरीके से करें किडनी टेस्ट

दरअसल जब किडनी डैमेज होने लगती है, तो आपके यूरिन में प्रोटीन की मात्रा भी बढ़ने लगती है। इसीलिए यूरीन में प्रोटीन की मात्रा का पता करके जान सकते हैं, कि कहीं आपकी किडनी डैमेज तो नहीं। यूरीन में प्रोटीन की मात्रा पता करने का एक आसान तरीका है, जो आयुर्वेद पर आधारित है। चलिए जानते हैं इसकी प्रक्रिया। 

सबसे पहले तो अपने यूरीन को एक टेस्ट ट्यूब में ले लीजिए। फिर टेस्ट ट्यूब को एक होल्डर से पकड़कर मोमबत्ती की फ्लेम में 4 से 5 मिनट तक गर्म कीजिए। अब अगर यूरीन क्लाउडी सफेद रंग का होने लगे तो आपको अलर्ट हो जाना चाहिए। क्योंकि इसका मतलब ये है कि यूरीन में प्रोटीन अधिक मात्रा में है और आपकी किडनी को डैमेज होने का खतरा है। 

प्रतीकात्मक

 

गर्म होने पर जमने लगता है प्रोटीन

दरअसल प्रोटीन के मॉलिक्यूल के व्यवहार के मुताबिक वह गर्मी बढ़ने पर जमने लगते हैं। इसीलिए अगर टेस्ट ट्यूब पर सफेद परत नहीं जमती है तो किडनी के स्वस्थ होने का संकेत मिलता है। हालांकि किडनी की परेशानी से जूझ रहे व्यक्तियों को किसी भी निष्कर्ष पर पहुंचने से पहले डॉक्टर से जरूर मिल लेना चाहिए।