+

पवित्र कार्यों में ही नहीं गंभीर बीमारियों को दूर करता है गंगाजल

गंगाजल को हमारे देश में पवित्र माना जाता है। इसको अमृत समान भी कहा जाता है। हालही में हुई एक रिसर्च से पता लगा है की गंगाजल का सेवन हमें कई प्रकार की बीमारियों से भी बचाता है। शोध में सामने आया है की मानव तथा पशुओं में कई ऐसी बीमारियां होती हैं जिनको गंगाजल के सेवन से आसानी से दूर किया जा सकता है। मानवों में मस्तिष्क ज्वर, घाव, सर्जरी या यूरिनल इंफेक्शन जैसी समस्याएं हो जाती हैं।

प्रतीकात्मक

 

हालही में राष्ट्रीय अनुसंधान केंद्र के वैज्ञानिकों ने रिसर्च में दावा किया है की गंगाजल से 8 से अधिक बीमारियों का इलाज आसानी से किया जा सकता है। इस रिसर्च को सबसे पहले मेंढक पर किया गया था। जो की सफल रहा। इसके बाद इस शोध को गाय, घोड़े व अन्य पशुओं पर किया गया है। इस शोध को वाराणसी के गंगाजल पर किया गया है और अब वैज्ञानिक इसी शोध को हर की पौड़ी के गंगाजल पर करने वाले हैं। आइये अब आपको बताते हैं गंगाजल के सेवन के कुछ अन्य फ़ायदे। 

प्रतीकात्मक

 

भण्डारकर ओरियंटल संसथान में एक प्राचीन हस्त लिखित ग्रंथ है, जिसका नाम "भोजन कुतूहल" है। इस ग्रंथ में गंगाजल की उपयोगिता को बताते हुए कहा है कि गंगाजल बुद्धि को तीब्र करने वाला, पाचक शक्ति बढ़ाने वाला तथा भोजन पकाने योग्य होता है। आज के वैज्ञानिक शोध बताते हैं कि गंगाजल में शरीर की शक्ति बढ़ाने की अपूर्व योग्यता होती है। इसका सेवन करने से रोगी को किसी डॉक्टरी टॉनिक की आवश्यकता नहीं होती है। जो व्यक्ति गंगाजल का नियमित प्रयोग करते हैं उनको दमे, तपेदिक, जीर्ण, ज्वर आदि बीमारियां कभी नहीं होती हैं। इसके अलावा प्लेग, हैजा