+

आपकी आधी उम्र घटा देता है सांस लेने का तरीका, जानें सही विधि

जब तक मानव की सांस चलती है तब तक ही वह जीवित भी रहता है। आपको जानकर हैरानी होगी की हम सभी ज्यादातर लोग गलत विधि से सांस लेते हैं। अतः हम अनजानें में ही कई बीमारियों के शिकार हो जाते हैं। अभी तक सांस लेने के तरीके पर जो शोध हुआ है। उससे पता लगता है की सही विधि से सांस न लेने के कारण हमारी उम्र लगातार घटती रहती है लेकिन यदि हम सही विधि से सांस लें तो हम लंबी उम्र तक जीवित रह सकते हैं। आइये अब हम आपको बता दें की सांस लेने की सही विधि आखिर क्या है। 

प्रतीकात्मक

 

सांस लेने की सही विधि - 

सांस को कभी मुंह से नहीं लेना चाहिए बल्कि नाक से लेना चाहिए। यदि हम मुंह से सांस लेते हैं तो हमारे अंदर सांस फ़िल्टर होकर नहीं जा पाती है। इस कारक हम कई तरह की बीमारियों का शिकार हो जाते हैं। अतः सांस को हमेशा नाक से लेना चाहिए। 

प्रतीकात्मक

 

सांस को पेट तक लेकर जाएं - 

आप जब भी सांस लें तो ध्यान दें की सांस आपके पेट तक जानी चाहिए। असल में जब कभी भी आप पेट तक सांस को लेकर जाते हैं तो 70 से 80 प्रतिशत हवा आपके डायफ्राम में जाती है। इस प्रकार से सांस लेने पर आपकी आंत, पेट तथा लीवर की भी मसाज हो जाती है। 

प्रतीकात्मक

 

धीरे धीरे गहरी सांस लें - 

सांस को तेजी से या जल्दीबाजी में नहीं लेना चाहिए। आप जब धीरे धीरे तथा गहरी सांस लेते हैं तो इससे आपको पूरा फायदा मिलता है। आप जितनी आक्सीजन को खींचते हैं उतना ही फायदा आपको मिलता है। अतः इस विधि से सांस ही सांस लें। इसके अलावा आप प्रदूषण वाले स्थान पर जानें से भी बचें।