+

यूपी-उत्तराखंड में जहरीली शराब का कहर, मरने वालों की संख्या 92 के पार

यूपी और उत्तराखंड में जहरीली शराब पीने से मरने वालों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। अभी तक कुशीनगर, सहारनपुर और रुड़की में इसके चलते कुल 92 लोग अपनी जान गवां चुके हैं। जिनमें से सहारनपुर में 64, रुड़की में 20 और कुशीनगर में 8 लोग बताये जा रहे हैं। जबकि 35 से ज्यादा लोग अभी तक अस्पताल में भर्ती हैं। 

प्रतीकात्मक

 

तेरहवीं के दौरान पी थी शराब

उत्तर प्रदेश सरकार ने बताया कि मरने वालों में से ज्यादातर लोगों ने रुड़की में एक तेरहवीं के दौरान जहरीली शराब का सेवन किया था। इस मामले में अब तक 46 लोगों का पोस्टमार्टम हो चुका है। रिपोर्ट के अनुसार इनमें से 36 लोगों की मौत जहरीली शराब की वजह से हुई है। इनमें से 18 लोगों की मौत मेरठ के अस्पताल में इलाज के दौरान हुई। कई लोगों की हालत अभी भी नाजुक बनी हुई है, जो मेरठ के अस्पताल में भर्ती हैं। 

कई अधिकारी हुए सस्पेंड

घटना को देखते यूपी और उत्तराखंड सरकार ने जल्द कार्यवाई करने के निर्देश दिए हैं। इस बड़ी लापरवाही के लिए प्रशासन ने नागल थाना प्रभारी सहित 10 पुलिसकर्मी निलंबित कर दिए हैं। वहीँ आबकारी विभाग के तीन इंस्पेक्टर व दो कॉन्स्टेबल भी सस्पेंड कर दिए हैं। 

प्रतीकात्मक

 

सरकार ने दिए छापेमारी के निर्देश

इससे पहले शुक्रवार शाम यूपी के मुख्य सचिव और बाद में डीजीपी ने सभी जिलों के जिला अधिकारियों और पुलिस अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेसिंग की। जिसमें उन्होंने इस मामले पर छापेमारी और खोजबीन के निर्देश दिए। वहीँ सरकार की तरफ से सख्त निदेश है कि जिले में लापरवाही होने पर वहां के पुलिस कप्तान और जिलाधिकारी को इसका नुकसान भुगतना होगा। 

प्रतीकात्मक

 

प्रशासन ने की 80 लाख की शराब बरामद

प्रशासन एक्शन मोड में आय तो यूपी के कुशीनगर में पुलिस और आबकारी की संयुक्त टीम ने छापा मारकर कप्तानगंज थाना क्षेत्र के एनएच 28 पर ढाबे पर खड़ी ट्रक में भूसे में छिपाकर ले जाई जा रही शराब की 1600 पेटियां बरामद की। बताया जा रहा है कि इसकी कीमत करीब 80 लाख रुपये है। मामला दर्ज किया गया है, जबकि शराब तस्कर फरार है।