+

ड्राइविंग लाइसेंस घर भूलने पर भी नहीं कटेगा चालान

अगर आप कभी अपने घर से कार या टू व्हीलर लेकर घर से बाहर जाते हो और रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (RC), ड्राइविंग लाइसेंस (DL), इंश्योरेंस और पॉल्यूशन कंट्रोल सर्टिफिकेट रखना भूल जाते हो, तो आपको चालान भरना पड़ता होगा। कई बार तो गाड़ी ही पुलिस के पास छोड़ने की नौबत आ जाती होगी। लेकिन अब आपको इस बात से डरने की कोई जरुरत नहीं है। क्योंकि मिनिस्ट्री ऑफ़ रोड ट्रांसपोर्ट ने अब सॉफ्ट कॉपी को हार्ड कॉपी के बराबर ही वैध करार दे दिया है। 

प्रतीकात्मक

 

आईटी एक्ट और मोटर व्हीकल एक्ट में हुआ संशोधन

दरअसल मिनिस्ट्री ऑफ रोड ट्रांसपोर्ट ने आईटी एक्ट 2000 और मोटर व्हीकल एक्ट 1988 में हाल में संशोधन कर दिया है। मिनिस्ट्री ऑफ़ रोड ट्रांसपोर्ट ने इस संशोधन के जरिए सरकारी वेबसाइट डिजिलॉकर में रखे हुए ड्राइविंग लाइसेंस और आरसी पेपर्स को लीगल कर दिया है। जिससे अब पेपर्स घर भूलने पर भी चालान का खतरा नहीं रहेगा। 

इस तरह बच सकेंगे चालान से

अगर आप डीएल घर भूलने पर भी चालान से बचना चाहते हैं, तो आपको भी डिजिटल डीएल, आरसी बनवा लेना चाहिए। इसके लिए आपको मोदी सरकार द्वारा ऑपरेटे वेबसाइट https://digilocker.gov.in/ (डिजिलॉकर) में अपने व्हीकल सम्बंधित डॉक्युमेंट्स स्टोर करने होंगे। इससे आप किसी भी समय चेकिंग के दौरान ट्रैफिक पुलिस को डिजिलॉकर में स्टोर डॉक्युमेंट्स दिखा सकते हैं। 

प्रतीकात्मक

 

ऐसे करें डिजिलॉकर में रजिस्टर्ड

इस ऐप को आप गूगल प्ले स्टोर से भी डाउनलोड कर सकते हैं। ऐप डाउनलोड करने के बाद आपको साइन अप का ऑप्शन मिलेगा, जहां आपको अपना मोबाइल नंबर डालना होगा। इसके बाद आपके फोन में ओटीपी आएगा। ओटीपी डालने के बाद आपसे कुछ जानकारी मांगी जाएंगी। जिसे भरने के बाद आपका अकाउंट खुल जाएगा। अब आप अपने जरूरी डॉक्युमेंट्स यहां अपलोड कर सकेंगे। इस ऐप में आप डीएल और आरसी के अलावा पैन कार्ड, पासपोर्ट, मार्कशीट और सर्टिफिकेट आदि अपलोड कर सकते हैं।