+

कुत्ते ने जान दे बचाया 6 जवानों का जीवन, पूरे देश ने दी सलामी

आप जानते ही होंगे की भारतीय सेना में कुत्तों की भर्ती की जाती है। कुत्ते फ़ौज के लिए कई कार्यों में लाभकारी साबित होते हैं। फ़ौज में भर्ती हुए ये कुत्ते आम नहीं होते बल्कि पूरी तरह से ट्रेंड होते हैं तथा बहुत समझदार भी होते हैं। बम, ब्लड तथा अन्य चीजों की गंध को ये कुत्ते बहुत आसानी से पहचान लेते हैं। इसके अलावा ये अपराधी व्यक्ति के हावभाव भी आसानी से पहचान लेते हैं। दौड़ते हुए अपराधी को ये लोग तेजी से भागकर पकड़ लेते हैं। फ़ौज में रहते हुए ये कुत्ते भारत माता की ही सेवा करते हैं। इसी सेवा को करते हुए हालही में आर्मी का एक स्निफर डॉग शहीद हो गया है। आज हम आपको उसी के बारे में यहां बता रहें हैं।

प्रतीकात्मक

आपको बता दें की आर्मी का स्निफर डॉग जिसका नाम Cracker था। वह छत्तीसगढ़ के बीजापुर में शहीद हो गया है। रिपोर्ट के अनुसार बीजापुर जिले के नक्सल प्रभावित इलाके चिन्ना कोडेपाल में आर्मी के लोग गश्त कर रहे थे। उस समय वहां जवानों के साथ Cracker भी मौजूद था। उस क्षेत्र में नक्सली लोगों ने लैंड माइंस बिछा रखी थीं। कमांडेंट भानू प्रकाश रेड्डी Cracker को पकड़े हुए आगे आगे चल रहे थे। इसी दौरान IED ब्लास्ट हुआ तथा Cracker इस ब्लास्ट में मारा गया। कमांडेंट भानू प्रकाश रेड्डी को भी इस ब्लास्ट में हल्की चोटे आई लेकिन पीछे चल रहे सभी जवान बच गए। इस प्रकार से Cracker अपनी जान देकर फ़ौज के बहुत से जवानों का जीवन बचा लिया। Cracker की इस बहादुरी पर सारे देश ने उसको सलामी दी है और बहुत लोग Cracker की आत्मा के लिए शांति की प्रार्थना कर रहें हैं।